जागरण संवाददाता, हल्द्वानी : बारिश के चलते आई आपदा ने हार्टीकल्चर को भी बर्बाद कर दिया है। जिसका असर है कि सब्जियों की स्थानीय आवक चौथाई से भी कम हो गई। बाहर से आने वाली सब्जियों पर निर्भरता बढ़ गई है। यही कारण है कि लगभग सभी सब्जियां 70 से 80 रुपये प्रति किलोग्राम के भाव बिक रही हैं। टमाटर, प्याज, गोभी आदि सब्जियां लोग मंहगी होने के बाद भी खरीदने को मजबूर हैं।

बारिश के चलते पर्वतीय क्षेत्रों में सबसे ज्यादा नुकसान हुआ है। पानी भरने, मलबा आने व नदी-नाले ने पर्वतीय कृषकों की खेती चौपट कर दी है। स्थिति यह हो गई है कि पहाड़ में उगने वाली सब्जियां खराब हो गई। यहां तक कि खेत व पौधे भी लगभग नष्ट होने की स्थिति में हैं। जिससे स्थानीय व हल्द्वानी मंडी में दाम बढऩा तय है।

मंडी सचिव विश्व विजय सिंह देव ने बताया कि आमद कम होने से सब्जियां मंहगी बिक रही हैं। थोक भाव बढऩे के साथ ही फुटकर का बाजार भी तेज हो गया है। वहीं ट्रांसपोर्टेशन आदि का दाम जुडऩे के बाद पहाड़ में जाने वाली सब्जियां सबसे ज्यादा मंहगी हो रही हैं। मंडी में सब्जी के दाम बढऩे से बाजार में लोग सस्ती सब्जी की तलाश कर रहे हैं। लेकिन स्थिति यह है कि आम दिनों में सस्ती बिकने वाली सब्जियां भी इन दिनों मंहगे दाम पर ही बिक रह हैं।

सब्जी      थोक रेट      फुटकर

आलू        16             20

प्याज       32             70

टमाटर     55             80

लौकी       18             25

कद्दू          18            30

फूलगोभी   35            70

भिंडी         40            65

शिमला मिर्च 50        80

वीन          40           60

Edited By: Skand Shukla