जागरण संवाददाता, हल्द्वानी : Uttarakhand Weather Update: उत्तराखंड में 23 व 24 मई को मौसम बिगड़ा रहेगा। मौसम विज्ञानियों ने अंदेशा जताया कि उच्च हिमालयी क्षेत्रों में बर्फबारी व ओलावृष्टि होगी साथ ही मैदानी इलाके में अंधड़ के साथ बारिश होगी। उत्तराखंड पुलिस ने ट्वीट एडवाइजरी जारी की है। 

नैनीताल, हल्द्वानी आदि में बारिश हुई तो वहीं पिथौरागढ़ में हिमपात हुआ। इसके अलावा खराब मौसम के चलते चारधाम यात्रा कुछ देर के लिए रोक दी गई थी। 

प्रदेश में पश्चिमी विक्षोभ के दस्तक देने के चलते मौसम बदल गया है। उत्तराखंड पुलिस ने आफीशियल ट्वीटर हैंडल से 23 व 24 को माैसम विभाग की ओर से ऑरेंज अलर्ट जारी किया है। साथ ही पर्यटकों व स्थानीय निवासियों के लिए एडवाइजरी भी जारी की है।

सोमवार सुबह से हल्द्वानी समेत पूरे नैनीताल बादल छाए रहे। और गरज चमक के साथ बारिश हुई। कहीं बारिश और कहीं बादलों के चलते मैदान में उमस व गर्मी से राहत मिली तो वहीं ऊंचाई वाली जगहों पर ठंड बढ़ गई।चारधाम की ऊंची चोटियों में हिमपात भी हुआ है। 

राज्य मौसम विज्ञान केंद्र के निदेशक बिक्रम सिंह ने बताया कि सोमवार को कुमाऊं मंडल के अधिकांश स्थानों पर हल्की से मध्यम बारिश होने या गरज के साथ बौछार पडऩे की संभावना है। नैनीताल, पिथौरागढ़, बागेश्वर जिलों में कहीं कहीं पर भारी बारिश होने व तेज अंधड़ चलने की संभावना को देखते हुए अलर्ट जारी किया गया है।

बारिश से तरबतर बागेश्वर

जिले में बीते रविवार की शाम चार बजे से बारिश का सिलसिला जारी है। सोमवार को सुबह दो घंटे के लिए बारिश रुकी। उसके बाद अनवरत हो रही बारिश से जन जीवन पर असर पड़ने लगा है। किसानों को फसल का उत्पादन अच्छा होने की उम्मीद है। वहीं, बारिश और अंधड़ के चलते करीब 80 गांवों की बिजली गुल रही।

आग से जंगलों को राहत

बारिश होने से जंगलों को राहत मिली है। आग लगने की घटनाएं लगातार बढ़  रही थी। लेकिन अंधड़ चलने से चीड़ के पेड़ गिर रहे हैं। जिससे ईमारती लकड़ी को नुकसान हो रहा है। हालांकि वन विभाग गिरे हुए पेड़ों को वन निगम को सौंप देता है।

Edited By: Prashant Mishra