जागरण संवाददाता, हल्द्वानी : Uttarakhand Weather Update : कुमाऊं में अगले तीन दिन मानसून सक्रिय रहने की संभावना है। मौसम विभाग ने 23 से 25 सितंबर के दौरान अनेक जगहों पर हल्की से मध्यम वर्षा होने या गरज के साथ बौछार पडऩे की संभावना जताई है। मानसूनी सिस्टम मजबूत रहा तो 25 सितंबर को वर्षा में थोड़ी तेजी आ सकती है।

राज्य मौसम विज्ञान केंद्र के निदेशक बिक्रम सिंह ने बताया कि बदलते मौसम की वजह से तापमान सामान्य या उससे कम बना रह सकता है। गुरुवार को हल्द्वानी का अधिकतम तापमान 31 डिग्री व न्यूनतम 24.7 डिग्री दर्ज किया गया।

मानसून की विदाई का समय भी नजदीक

दक्षिण पश्चिम मानसून अपनी अवधि पूरी करने वाला है। सितंबर की समाप्ति के साथ मानसून की विदाई भी शुरू हो जाती है। मानसून की विदाई भी भले कुछ दिन का समय लगे, लेकिन मौसम विभाग 30 सितंबर तक की वर्षा को ही मानसून अवधि में गिनता है।

अब तक बीते मानसून काल के मुताबिक उत्तराखंड में सामान्य से सात प्रतिशत कम वर्षा हुई है। बागेश्वर जिले में सबसे अधिक व हरिद्वार में सबसे कम वर्षा देखने को मिली है। बागेश्वर में अब तक सामान्य से 182 प्रतिशत अधिक व हरिद्वार में 49 प्रतिशत कम वर्षा हुई है।

फसल के लिए वरदान है मानसून

मानसूनी वर्षा को खरीफ की फसल के लिए काफी मददगार माना जाता है। धान के अलावा मडुवा, बाजरा, दलहनी फसलों में सोयाबीन, भट, उड़द, लोबिया, गहत आदि की पैदावार होती है। प्राकृतिक जलस्रोतों को रिचार्ज करने व भूमिगत जलस्तर को बढ़ाने में भी मानसून का बड़ा योगदान रहता है।

आज के मौसम का हाल

कुमाऊं में मंडल में मौसम का मिलाजुला असर देखने के लिए मिल रहा है। पिथौरागढ़ में जहां सुबह धूप खिली रही वहीं चंपावत में घने बाद छाए हैं और बूंदाबादी हो रही है। नैनीताल में तड़के जोरदार बारिश, फिलहाल बादल छाए हैं और बारिश के आसार हैं। तराई में भी बादलों का डेरा हैं। बारिश की संभावना है।

Edited By: Skand Shukla