जागरण संवाददाता, रुद्रपुर : भाजपा से टिकट न मिलने से नाराज भाजपा विधायक राजकुमार ठुकराल ने पार्टी से प्राथमिकता सदस्या से इस्तीफा दे दिया। प्रदेश अध्यक्ष मदन कौशिक व महामंत्री संगठन अजय को त्याग पत्र भेज दिया। फर्जी आडियो व वीडियो बनाकर टिकट कटवाने वाले षड़यंत्रकारियों को सबक सिखाया जाएगा। साथ ही कहा कि हिंदू एजेंडा व भगवा झंडे पर चुनाव लड़ेंगे। निर्दल से विधायक जीतूंगा तो भी भाजपा का विधायक ही होगा। दानपत्र की भूमि पर बसे लोगों को मालिकाना हक दिलाना उनका मकसद है। 

ठुकराल भाजपा से वर्ष, 2012 व 2017 में रुद्रपुर विधानसभा सीट से विधायक चुने गए थे। इस बार भाजपा जिलाध्यक्ष शिव अरोरा पर भाजपा ने भरोसा जताया तो ठुकराल के साथ उनके समर्थकों में गुस्सा फूट पड़ा। ठुकराल के अावास पर गुरुवार को उनके समर्थकों की हुई बैठक में ठुकराल ने निर्दल चुनाव लड़ने का ऐलान किया। कहा कि समर्थकाें ने उन्हें चुनाव लड़ाने को निर्णय लिया है। करीब दो हजार से अधिक समर्थक यहां एकत्र हैं, यदि वो इतने समर्थक दिखा दें, मैं चुनाव से हट जाऊंगा। जनता क्या चाहती है। यदि मुझसे कोई गलती हुई हैं, तो मैं माफी मांगने वाला विधायक हूं। पहली बात है कि कूटरचना करने वालों को सबक सीखाना चाहिए था। जो व्यक्ति जसपुर से खटीमा तक पार्टी की चिंता नहीं कर रहा है। उस व्यक्ति को रुद्रपुर की सीट चाहिए, जिलाध्यक्ष, मेयर, विधायक सब पद चाहिए, उसके पद की लालसा खत्म करने के लिए चुनाव में उतर रहा हूं।

उन्होंने कहा कि नजूल भूमि पर निस्तारण किया, प्रधानमंत्री भूस्वामित्व योजना में गांवों में निस्तारण किया, किच्छा से तहसील, रजिस्ट्रार दफ्तर रुद्रपुर पर लाया। काफी संख्या में उनके समर्थकाें ने पार्टी से इस्तीफा दिया है। ट्रांसपोर्ट नगर को जत्द पूरा कराने, सीवर लाइन, इंजीनियरिंग कालेज बनाने के मुद्​दे पर चुनाव ल़ेंगे। उन्होंने अपने को बजरंगी बताते हुए कहा कि वह कोई घोटाला व रिश्वत नहीं लिया है।

Edited By: Prashant Mishra