जागरण संवाददाता, हल्द्वानी : उत्तराखंड पुलिस ने एसएसपी ऊधमसिंह नगर का एक वीडियो पोस्ट अपने आफीशियल ट्विटर हैंडल पर अपलोड किया। इसमें वह जनता को मोबाइल खोने या चोरी होने पर क्या उपाय करें बताते नजर आ रहे हैं। सरल से शब्दों में अपनी बात रखते हुए व आम जन को पुलिस पर भरोसा जताने का यह वीडियो को लोग काफी पसंद कर रहे हैं।

एसएसपी मंजूनाथ टीसी ने बताया कि मोबाइल खोना या चोरी होना स्वाभाविक सी बात है। इसमें घबराना या परेशान नहीं होना है। मोबाइल से आजकल सिर्फ बात ही नहीं होती। बहुत से जरूरी डाटा, दस्तावेज व फोटो आदि भी रहती है। मोबाइल खोने या चोरी होने पर आपको नजदीकी थाने, चौकी जाकर अपने एक एप्लीकेशन देना होता है। साथ ही उसका बिल व आइएमईआइ नंबर (IMEI International Mobile Equipment Identity) दे दीजिए। 

पुलिस उसे एसओजी में लगाकर फोन को खोजकर आपको देने का प्रयास करेगी। जल्द से जल्द फोन संबंधित देने का प्रयास रहता है। लोग पुलिस पर भरोसा करे आपको आपका फोन जरूर मिल जाएगा। 

भ्रामक पोस्ट पर नजर रख माहौल खराब करने वालों पर कसे नकेल

एसएसपी डा. मंजूनाथ टीसी ने कहा आने वाला समय काफी संवेदनशील है। इंटरनेट मीडिया के माध्यम से तेजी से झूठी व भ्रामक बाते फैलाई जा रही है। इस तरह के डिजिटल वॉर पर प्रभावी रूप से अंकुश लगाने के लिए डिजिटल वालिंटियर्स को सतर्क रहना होगा। जिससे अराजक तत्व अपने मंसूबों में कभी सफल न हो सके।

पुलिस आफिस सभागार में डिजिटल वालिंटियर्स के साथ आयोजित बैठक में बीते दिनों चाहे नुपुर शर्मा प्रकरण हो या फिर अग्निवीर योजना का विरोध इंटरनेट मीडिया के माध्यम से तेजी से फैलाई जा रही भ्रामक पोस्टों पर नियंत्रण के साथ ही साइबर क्राइम पर प्रभावी रोक पर मंथन किया।

एसएसपी ने डिजिटल वालिंटियर्स की भूमिका को लेकर चर्चा के साथ ही उनकी जिम्मेदारी के साथ ही भूमिका का बोध करवाया। कहा समाज में भ्रामक बातो को फैलने से रोकना बहुत जरुरी है। इंटरनेट मीडिया पर भ्रामक पोस्ट की सहीं जानकारी पर ही उसकी समय रहते की जाने वाली काट बहुत बड़े हादसे को रोकने में मददगार साबित हो सकती है। 

Edited By: Prashant Mishra