पिथौरागढ़, जेएनएन : आबादी में वन्‍यजीवों के दाखिल होने की घटनाएं बढ़न लगी हैं। पिथौरागढ़ जिले में मंगलवार का दिन गुलदारों के नाम रहा। जिला मुख्यालय स्थित जगदंबा कॉलोनी में गुलदार गोशाला में घुस गया। एक पखवाड़े के भीतर नगर में गुलदार के धमक की यह दूसरी घटना है। वहीं, वहीं भुरमुनी गांव के पास भी गुलदार फंदे में फंस गया। बाद में वन विभाग की टीम ने दोनों को पकड़ जंगल में छोड़ दिया।
जगदंबा कॉलोनी निवासी स्कूल संचालक हीरा सिंह खाती की गोशाला से वन्य जीव के गुर्राने की आवाज आसपास के लोगों ने सुनी। मौके पर पहुंचे लोगों ने वहां गुलदार देखा तो उनके होश उड़ गए। सूचना पर वनकर्मी पिंजरा लेकर मौके पर पहुंचे। तीन घंटे की मशक्कत के बाद लगभग आठ माह का गुलदार पिंजरे में कैद हो सका। इस दौरान उसे देखने के लिए लोगों को हुजूम उमड़ पड़ा। वन विभाग ने गुलदार को धारी क्षेत्र के जंगल में छोड़ दिया। एक पखवाड़े पूर्व पांडेगांव क्षेत्र में भी घर में गुलदार घुस गया था। 

बकरियों के लालच में आया 

जिस गोशाला में गुलदार घुसा, वहां बकरियां और मुर्गियां थीं, लेकिन इनके लिए अलग बाड़ा बना हुआ है। गुलदार बाड़े तक नहीं पहुंच सका और गोशाला में ही फंस गया। जानवरों को गुलदार किसी तरह का नुकसान नहीं पहुंचा सका।

भुरमुनी गांव के निकट फंदे में फंसा गुलदार 

जिला मुख्यालय से 15 किलोमीटर दूर भुरमुनी गांव से लगे जंगल में गुलदार फंदे में फंस गया। दहाड़ सुन लोग मौके पर पहुंचे तो उन्हें इसकी जानकारी हुई। इसकी सूचना वन विभाग को दी गई। जिला मुख्यालय में फंसे गुलदार को छोडऩे के बाद टीम जंगल पहुंची। टीम ने गुलदार पर जाल डाल उसे पिंजरे में कैद किया और ह्यूपानी क्षेत्र के जंगल में छोड़ दिया। गुलदार की उम्र लगभग एक वर्ष बताई जा रही है। इस दौरान वहां ग्रामीणों का हुजूम लग गया। गुलदार जिस फंदे में फंसा, वह सूअरों को फंसाने के लिए लगाया गया था। फंदा वाहनों के क्लच वायर से बनाया जाता है। जानवर का पांव पड़ते ही यह पांव में कस जाता है और फिर इससे निकल पाना जानवर के लिए संभव नहीं होता। 

शिकार की आशंका पर होगी जांच 

भुरमुनी गांव में गुलदार के फंदे में फंसने को वन विभाग ने गंभीरता से लिया है। प्रभागीय वनाधिकारी विनय भार्गव ने कहा है कि फंदा लगाकर गुलदार के शिकार की आशंका को देखते मामले की जांच कराई जाएगी। बता दें सीमांत जिले में गुलदार की खाल की तस्करी के कई मामले प्रकाश में आ चुके हैं। 

गैना क्षेत्र में दिनदहाड़े दिख रहा गुलदारों का जोड़ा 

जिला मुख्यालय से पांच किमी. दूर गैना क्षेत्र में गुलदारों का जोड़ा दिनदहाड़े दिख रहा है। तीन रोज पूर्व इसी क्षेत्र में गुलदार ने एक युवक अमित महर पर हमला कर दिया था। अमित को अस्पताल में भर्ती कराया गया है। स्थानीय निवासी देवेंद्र ने बताया कि गुलदार का जोड़ा गैना फार्म की भूमि में दिनदहाड़े दिख रहा है। इससे क्षेत्र में दहशत का माहौल है। उधर, मसपाटी क्षेत्र में गुलदार दिखने से लोग सहमे हैं। 

Posted By: Skand Shukla

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप