नैनीताल, जेएनएन : जिला जज एवं विशेष न्यायाधीश एंटी करप्शन नरेंद्र दत्त की कोर्ट की सख्ती के बाद एसआइटी ने एनएच-74 मुआवजा घोटाला मामले में दो आरोपितों को गिरफ्तार कर लिया है। दोनों को रिमांड मजिस्ट्रेट अभय सिंह की कोर्ट ने न्यायिक हिरासत में भेज दिया, दोनों आरोपितों की सोमवार को एंटी करप्शन कोर्ट में पेशी होगी। घोटाले में अब भी करीब दो दर्जन आरोपितों की गिरफ्तारी होनी है। 

एनएच मुआवजा घोटाले में अब तक 26 आरोपित गिरफ्तार हुए, जिसमें से एक की मौत हो चुकी है। एंटी करप्शन कोर्ट में एसआइटी तत्कालीन विशेष भूमि अध्याप्ति अधिकारी डीपी सिंह समेत एडीएम, एसडीएम, तहसीलदार-नायब तहसीलदार, चकबंदी-सहायक चकबंदी अधिकारी व अन्य 25 के खिलाफ आरोप पत्र दायर हो चुकी है। कोर्ट में आरोप तय करने का बहस भी हो चुकी है। अब आरोपों पर प्रति शपथ पत्र के लिए सात जून तक की तिथि निर्धारित की है। इधर, रविवार दोपहर को एसआइटी के निरीक्षक नंदाबल्लभ भट्ट किसान बरबिंदर सिंह व नन्हे को लेकर नैनीताल पहुंचे और उन्हें रिमांड मजिस्ट्रेट अभय सिंह की कोर्ट में पेश किया। जहां से उसे न्यायिक हिरासत में भेज दिया। बरजिंदर ने एनएच चौड़ीकरण में करीब 34 करोड़ मुआवजा लिया है। डीजीसी फौजदारी सुशील कुमार शर्मा ने बताया कि घोटाले के फरार आरोपित किसानों की जल्द गिरफ्तारी होनी है। यहां यह भी उल्लेखनीय है कि एंटी करप्शन कोर्ट ने कई बार एनबीडब्लू जारी होने के बाद भी घोटाले के आरोपित किसान हरजिंदर की गिरफ्तारी नहीं होने पर सख्त रवैया अपना लिया है। कोर्ट ने हरजिंदर को सात जून को पेश करने अन्यथा एसएसपी से व्यक्तिगत रूप से पेश होकर स्पष्टीकरण तलब किया है।

यह भी पढ़ें : अवतार हत्‍याकांड : बेटी ने बताई हत्याकांड से पहले की पूरी कहानी, मां ने बताने से किया था मना

यह भी पढ़ें : प्रेमिका की शादी तय होने के बाद किशोर ने अपने कमरे में फंदा लगाकर की खुदकुशी

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Skand Shukla

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस