जागरण संवाददाता, नैनीताल: दशहरा अवकाश व वीकेंड को देखते हुए गुुरुवार शाम से नैनीताल में पर्यटक उमडऩे लगे। आवाजाही बढ़ी तो पुलिस ने बाईपास पर ही पर्यटक वाहन रोक दिए। हल्द्वानी मार्ग पर शहर से नौ किमी दूर रूसी बाईपास व कालाढूंगी रूट से सात किमी दूरी पर स्थित नारायण नगर से शटल सेवा से पर्यटक नैनीताल भेजे गए। 

गुरुवार को दोपहर बाद से शाम तक पर्यटकों के नैनीताल पहुंचने का सिलसिला तेज हो गया। पुलिस ने यातायात व्यवस्था को पटरी पर लाने के मकसद से पर्यटक वाहनों को रूसी बाइपास व नारायण नगर में ही पार्क करना आरंभ कर दिया। रूसी बाइपास में जिला पंचायत की ओर से पार्किंग व्यवस्था की गई है। दोपहर बाद से झील में नौकायन के लिए पर्यटकों का तांता लग गया जबकि पर्यटन स्थल स्नोव्यू, बारापत्थर, टांकी बैंड, टिफिनटाप, किलबरी में भी आवाजाही रही। इधर, शुक्रवार को दशहरा पर भी भीड़ बढऩा तय है। शहर के होटलों में भी 18 अक्टूबर तक एडवांस बुकिंग हो चुकी हैं। पचास प्रतिशत से अधिक होटल पैक हैं। कोविड के चलते लंबे समय बाद बंगाल के पर्यटक अब नैनीताल पहुंचने लगे हैं। 

सीओ ने संभाली यातायात की कमान 

पुलिस क्षेत्राधिकारी संदीप नेगी ने कोतवाली में बैठक कर यातायात व्यवस्था को लेकर चर्चा की। तय हुआ कि शहर की पार्किंग स्थलों के 60 फीसद फुल होने पर पर्यटक वाहनों को रूसी बाइपास व नारायण नगर में पार्क किया जाएगा। शहर के आंतरिक मार्गाे पर पार्किंग नहीं होने दी जाएगी। 

बढ़ाए होटलों के दाम

पर्यटकों की भीड़ बढऩे के बाद मध्यम दर्जे के होटलों ने रेट बढ़ा दिए। कोविड काल में निर्धारित रेट 50 प्रतिशत तक गिरा दिए थे। अब पर्यटन बढ़ा तो फुल रेट में रूम दिए जा रहे हैं। फिलहाल कारोबारियों के चेहरे खिल गए हैं। 

Edited By: Prashant Mishra