नैनीताल, जागरण संवाददाता : नैनीताल के गेठिया क्षेत्र में घूमने के लिए पहुंचे पर्यटकों ने जमकर बवाल का किया। नशे में धुत पर्यटकों ने होटल संचालक और कर्मचारियों से मारपीट की। जिसमें होटल संचालक समेत तीन लोग घायल हो गए। इतना ही नहीं पर्यटकों ने गैस सिलेंडर में आग लगाने की भी कोशिश की। गनीमत रही कि पर्यटकों को जलाने का कोई साधन नहीं मिला। 

मारपीट और तोड़फोड़ के बाद पर्यटक होटल संचालक के रेस्टोरेंट में रखी नगदी अन्य पर्यटकों की आईडी लेकर होटल का गेट तोड़ फरार हो गए। होटल संचालक की तहरीर पर तल्लीताल पुलिस ने 8-10 लोगों के खिलाफ मारपीट की धाराओं में मुकदमा दर्ज कर लिया है।

जानकारी के मुताबिक नैनीताल निवासी एमएल साह ने तहरीर देकर कहा है कि वह गेठिया क्षेत्र में कैंप कुरिया नाम से होटल व रेस्टोरेंट का संचालन करते हैं। शनिवार शाम पांच बजे दो वाहनों में सवार 10 पर्यटक उनके कैंप में पहुंचे। जिन्होंने पांच जूम टेंट बुक कराए। रात करीब साढ़े नौ बजे अचानक पर्यटक शराब के नशे में बाहर आकर गाली गलौज करने लगे।

होटल में मौजूद उनके दोनों बेटों ने पर्यटकों को शांत रहने को कहा तो पर्यटकों ने हमलावर होकर होटल में मौजूद उनके बेटे आशीष साह और भगवत कुमार साह से मारपीट शुरू कर दी। चीखना चिल्लाना सुनकर होटल कर्मचारी भी मौके पर पहुंच गए और उनके बेटों को बचाने का प्रयास किया। मगर पर्यटकों की संख्या अधिक होने के कारण वह सफल नहीं हो सके।

मारपीट के दौरान वह और उनके दोनों बेटे बुरी तरह चोटिल और लहूलुहान हो गए। इस बीच पर्यटकों ने रेस्टोरेंट के बाहर रखे गैस सिलेंडर में भी आग लगाने का प्रयास किया। मगर आग लगाने के लिए लाइटर अथवा अन्य संसाधन नहीं होने के कारण वह सफल नहीं हो सके।

होटल संचालक ने आरोप लगाए कि पर्यटकों ने बलपूर्वक उनके रेस्टोरेंट के गल्ले में रखी 11 हजार की नगदी भी ले गए। इतना ही नहीं पर्यटक रिसेप्शन में रखी हुई अपनी और अन्य पर्यटकों की आईडी लेने के बाद वाहन से होटल का गेट तोड़ फरार हो गए। जिसके बाद वह घायल बेटों को उपचार के लिए बीडी पांडे अस्पताल लेकर पहुंचे। उन्होंने ज्योलीकोट चौकी और तल्लीताल थाने में तहरीर देकर कार्रवाई की मांग की है।

रात से दौड़ाती रही पुलिस, अगले दिन दर्ज किया मुकदमा

पीड़ित के बेटे आशीष साह ने बताया कि रात को मारपीट के बाद उन्होंने 112 पर भी पुलिस को सूचना दी। साथ ही रात ही वह तहरीर लेकर ज्योलीकोट चौकी पहुंचे। मगर पुलिस द्वारा कोई कार्रवाई नहीं की गई। इधर रविवार को वह शिकायत लेकर सुबह से कभी तल्लीताल थाने तो कभी चौकी के चक्कर काटते रहे। मगर पुलिस ने देर शाम तक उनकी नहीं सुनी। इधर एसओ रोहिताश सिंह सागर ने बताया कि तहरीर के आधार पर 8-10 अज्ञात लोगों के खिलाफ मारपीट की धाराओं में मुकदमा दर्ज कर लिया गया है। फिलहाल मामले की जांच की जा रही है।

दिन भर पीड़ितों पर बनता रहा समझौते के लिए दबाव

मारपीट की घटना को अंजाम देने के बाद पर्यटक होटल से फरार हो गए। आशीष साह ने बताया कि जिसके बाद से ही पर्यटकोंं से संबंधित लोगों के फोन आने शुरू हो गए। कई लोग खुद का राजनीतिक पार्टी से संबंध बताते हुए समझौता करने के लिए दबाव बनाते रहे। देर शाम तक कई बड़े नेताओं ने फोन कर उन्हें समझौते के लिए दबाव बनाया।

Edited By: Skand Shukla