रामनगर, जेएनएन : रामनगर में कोरोना संक्रमण के मामले बढ़ने पर स्थानीय प्रशासन ने नगर के मुख्य बाजार को करी 19 घंटे तक सील रखा। मंगलवार को स्वास्थ्य विभाग की टीम ने यहां करीब 300 लोगों की थर्मल स्कैनिंग की। इसके अलावा यहां एक नाई के संपर्क में आए एक दर्जन लोगों को चिन्हित किया गया है, अब उनके सेंपल जाच के लिए भेजे जा रहे है। रामनगर के मुख्य बाजार व हनुमानगढ़ी क्षेत्र में दो दिन पूर्व दो नाईयों के कोरोना पॉजिटिव मिलने पर प्रशासन ने सोमवार को मुख्य बाजार क्षेत्र को सील करने का निर्णय लिया था। 

प्रशासन का मानना था कि बाजार क्षेत्र के अधिकाश लोग संक्रमित नाई से बाल कटवाते थे। ऐसे में अन्य लोगों में भी संक्रमण फैलने की आशका जताई जा रही थी। पहले प्रशासन ने नाई के संपर्क में आए लोगों से स्वयं कोरोना की जाच कराने के लिए कहा लेकिन प्रशासन की अपील का लोगों पर कोई फर्क नहीं पड़ा और कोई भी जाच के लिए आगे नहीं आया। इस पर स्थानीय प्रशासन ने सोमवार रात से मुख्य बाजार को सील करा दिया। मुख्य बाजार में प्रवेश करने वाले सभी मार्गो को बेरिकेडिग लगाकर बंद कर दिया गया। जिसके चलते लोगों की आवाजाही पूर्णतया बंद रही। 

मंगलवार सुबह एसडीएम विजयनाथ शुक्ल ने बाजार क्षेत्र में पहुचकर लोगों की थर्मल स्कैनिंग के लिए पहुंची स्वास्थ्य विभाग की टीम को सहयोग देन के लिए कहा। बाजार क्षेत्र को सैनिटाइज करने के बाद स्वास्थ्य कर्मियों की आठ टीमों ने घर-घर जाकर करीब 300 लोगों की थर्मल स्कैनिंग की। दोपहर 12 बजे तक स्कैनिंग पूरी होने के बाद प्रशासन ने अपराह्न दो बजे से बेरिकेडिग हटाकर बाजार खोल दिया। इस दौरान कोतवाल रवि सैनी, ईओ भरत त्रिपाठी, चिकित्सक डा. प्रशात कौशिक समेत स्वास्थ्य कर्मी मौजूद रहे। 

कुछ लोगो की नहीं हो पाई स्कैनिंग 

बाजार में कुछ लोग ऐसे है जिनकी दुकानें तो यहां हैं लेकिन वह शहर के दूसरे क्षेत्रों में रहते है। मंगलवार को बाजार बंद रहने से उनकी थर्मल स्कैनिंग नहीं हो पाई। इस बारे में अभी कोई निर्णय नहीं लिया गया है।

यह भी पढें 

कर्मचारी के घर दो कोरोना पॉजिटिव मिलने के बाद एरीज का एडमिन ब्लॉक सील 

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस