जागरण संवाददाता, नैनीताल : मल्लीताल कोतवाली क्षेत्र स्थित अधिवक्ता का बंद घर चोरों ने खंगाल डाला। वे लाखों के जेवरात व अन्य सामान उड़ा ले गए। मुख्य चौराहा व स्टेट सर्विस ट्रिब्यूनल के समीप हुई इस वारदात ने पुलिस के रात्रि गश्त पर गंभीर सवाल खड़े कर दिए हैं। फिलहाल पुलिस ने मामला दर्ज कर तफ्तीश शुरू कर दी है।

खुर्पाताल निवासी बीएस परिहार हाई कोर्ट में राज्य सरकार के स्टैंडिंग काउंसिल हैं। उनका मकान मल्लीताल पोस्ट ऑफिस के सामने है। शनिवार को सेंट जोजफ कॉलेज में अध्ययनरत बेटे के वार्षिक खेलकूद के बाद वह सपरिवार गांव चले गए। रविवार को उनके पड़ोसी व अधिवक्ता भारत सिंह मेहरा ने उनके घर का दरवाजा खुला देखा तो उन्हें शक हुआ। मुख्य गेट का ताला भी खुला था। उन्होंने मोबाइल पर परिहार को संपर्क करने के साथ ही कोतवाली में सूचना दी। सूचना पर कोतवाल विपिन पंत, एसएसआई बीसी मासीवाल, एसआई पूरन सिंह मर्तोलिया समेत पुलिस कर्मी मौके पर पहुंचे, देखा तो कमरों में सामान बिखरा पड़ा था। अलमारी का ताला टूटा था और नगदी और जेवरात गायब थे। पुलिस टीम द्वारा प्रारंभिक जांच पड़ताल के साथ ही फिंगर प्रिंट एकत्र किए गए। अधिवक्त परिहार की तहरीर पर पुलिस ने अज्ञात चोरों के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया है। अधिवक्ता ने करीब डेढ़ लाख नगदी व इतनी ही कीमत के जेवरात चोरी होने का उल्लेख तहरीर में किया है।

मजदूरों को पूछताछ के बाद छोड़ा

प्रारंभिक जांच पड़ताल में पता चला कि अधिवक्ता परिहार के घर में रंगरोगन किया जा रहा था। इसके बाद रंगरोगन करने वाले मजदूरों को कोतवाली में पूछताछ के लिए बुलाया गया तो वह चंद मिनटों में पहुंच गए। कड़ी पूछताछ के बाद उन्हें छोड़ दिया गया। पुलिस जांच में यह पता चला कि परिहार के घर से परिचित व्यक्ति का भी हाथ हो सकता है।

------

मामले के खुलासे के लिए सीओ व कोतवाल को कड़े निर्देश दिए जा चुके हैं। लोगों से भी अपील है कि वह जब भी अवकाश में गांव या अन्यत्र जाते हैं तो पुलिस को सूचित कर जाएं, ताकि पुलिस ऐसे क्षेत्र में विशेष चेकिंग करने के साथ ही नजर रख सके।

जन्मेजय खंडूरी, एसएसपी नैनीताल

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप