गणेश पांडे, हल्द्वानी। प्रधानमंत्री आवास योजना (शहरी) के तहत निर्मित होने वाले मकानों की जियो टैगिंग व फोटो क्लिक करने मात्र से काम नहीं चलेगा। लाभांवित परिवार के मुखिया को खुद की सफलता (खुशी) की कहानी बयां करते हुए मकान का वीडियो क्लिप तैयार कर विभागीय पोर्टल पर अपलोड करनी होगी। खुद की सेल्फी भी पोर्टल पर डालनी होगी। सर्वाधिक कलात्मक व अभिनव तरीके से निर्मित आवास व सफलता की सर्वश्रेष्ठ कहानियां पुरस्कृत की जाएंगी।

पीएम आवास योजना के तहत 2022 तक सभी बेघर परिवारों को आवास मुहैया कराया जाना है। योजना में किसी तरह की डुप्लीकेसी व अनियमितता न हो इसके लिए पहले से कई कदम उठाए गए हैं। आवास की फोटो के साथ संबंधित स्थान की जियो टैगिंग की जा रही है। आवासन एवं शहरी कार्य मंत्रालय ने ताजा निर्देशों में कहा है कि पीएम आवास की वीडियो क्लिप मंत्रालय के पोर्टल पर अपलोड की जानी है। वीडियो क्लिप में लाभांवित व्यक्ति अपनी सफलता की कहानी कहता सुनाई देगा। यही नहीं, घर के साथ खुद की सेल्फी व मकान के आगे परिवार की फोटो भी पोर्टल पर डालनी होगी। पोर्टल में लाभार्थी के रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर पर आने वाले पासवर्ड से ही लॉगिन किया जा सकता है।

हल्द्वानी में 19 आवास ऑनलाइन

योजना शुरू होने के बाद से लाभार्थी आधारित घटक के तहत हल्द्वानी में 72 आवासों का निर्माण चल रहा है। पूर्ण हो चुके 19 आवासों के दस्तावेज पोर्टल पर अपलोड कर दिए गए हैं। सुरेश अधिकारी, सामाजिक विकास अधिकारी, नगर निगम ने बताया कि पीएम आवास योजना शहरी के तहत लाभार्थी को मकान के साथ सेल्फी व वीडियोक्लिप खुद की स्टोरी के साथ पोर्टल पर अपलोड करनी होगी। अच्छी सेल्फी व बेस्ट स्टोरी को पुरस्कृत किया जाएगा।

यह भी पढ़ें : सीएम टोल फ्री नंबर : 1905 पर कुमाऊंनी समेत पांच भाषा में दर्ज कराएं शिकायत

Posted By: Skand Shukla

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप