जागरण संवाददाता, हल्द्वानी : मानसून की वापसी के बाद अब बारिश का दौर थम जाएगा। मौसम विभाग ने अगले सप्ताह कुमाऊं में शुष्क मौसम की संभावना जताई है। हालांकि तराई में अगले दो दिन हल्की धुंध रह सकती है। मौसम के ट्रेंड के मुताबिक अक्टूबर से दिसंबर के बीच का पोस्ट मानसून काल बारिश के लिहाज ने खास नहीं रहता।

अक्टूबर से दिसंबर के दौरान तराई-भाबर में केवल तीन दिन बारिश हो जाती है। लंबी अवधि के औसत के अनुसार अक्टूबर में 1.6 दिन बारिश होती है। नवंबर में केवल 0.4 दिन बारिश का रहता है। दिसंबर में भी 1.1 दिन बारिश के नाम रहता है। ऐसे में अगले तीन माह बारिश के लिए अनुकूल नहीं रहते। 

आठ दिन पहले आगमन, अब आठ दिन बाद वापसी 

दक्षिण-पश्चिम मानसून की शुक्रवार को उत्तराखंड से वापसी हो गई है। चार माह के मानसून काल में उत्तराखंड को सामान्य बारिश मिली। जून से सितंबर के दौरान राज्य में लंबी अवधि की औसत बारिश (1176.9 मिमी) रहती है, इस बार 1152.9 मिमी बारिश हुई। मानसून की विदाई के बाद मौसम में बदलाव की संभावना है। उत्तराखंड में मानसून के आगमन की तारीख 21 जून है।

इस बार 13 जून को मानसून उत्तराखंड पहुंच गया। हालांकि बाद में मानसून कमजोर रहा और जुलाई से इसने गति पकड़ी। वहीं, राज्य से मानसून की वापसी 25 सितंबर को कुमाऊं रीजन से शुरू होती है व 30 सितंबर तक पूरे राज्य से मानसून विदा ले लेता है। इस बार आठ दिन की देरी से मानसून की वापसी हुई है।

Edited By: Prashant Mishra