जागरण संवाददाता, हल्द्वानी : Admission in RTE : नए शिक्षा सत्र आधा बीत गया है। अधिकांश स्कूलों में अर्धवार्षिक परीक्षाएं पूर्ण हो गई हैं या आखिरी चरण में हैं। इसके बावजूद शिक्षा विभाग (uttarakhand education department) निश्शुल्क शिक्षा के लिए जरूरतमंद बच्चों की तलाश पूरी नहीं कर पाया है। दो अवसर देने के बाद भी तय सीटों के अनुरूप प्रवेश नहीं होने के बाद विभाग ने तीसरी बार आवेदन का अवसर दिया है। इच्छुक अभ्यर्थी 31 अक्टूबर तक आनलाइन आवेदन कर सकेंगे। स्कूलों के आवंटन के लिए लाटरी 15 नवंबर को होगी।

33672 सीटें आरक्षित

शिक्षा का अधिकार (RTE) अधिनियम के तहत निजी स्कूलों में 25 प्रतिशत सीटें गरीब व वंचित परिवारों के बच्चों के लिए आरक्षित रहती हैं। आरटीई के तहत पढ़ने वाले बच्चों की फीस, स्कूल यूनिफार्म, किताब आदि की प्रतिपूर्ति सरकार करती है। सत्र 2022-23 के लिए उत्तराखंड में 33672 सीटें आरक्षित थी। 23 मई से प्रवेश प्रक्रिया शुरू हुई। दो चरणों में प्रदेशभर में 32,493 आवेदन आए। जांच में 25,007 सही मिले। पांच सितंबर को दूसरी लाटरी निकली। दो चरणों में 20,313 आवेदन चयनित हुए। तय तिथि 20 सितंबर तक निजी स्कूल 16,453 को ही प्रवेश दिला पाए। 826 आवेदन रद हुए हैं, जबकि 3036 लंबित हैं।

ये भी पढ़ें : हल्द्वानी के MBPG कॉलेज का अजब हाल : पहले सीटें बढ़वाने को हुए आंदोलन, अब प्रवेश लेने वाले विद्यार्थी ही गायब 

तीसरे चरण की प्रवेश प्रक्रिया कार्यक्रम

  • पोर्टल पर नए स्कूलों का पंजीकरण: सात से 14 अक्टूबर
  • आरक्षित सीटों की गणना व सत्यापन: 15 से 20 अक्टूबर
  • आनलाइन पोर्टल पर आवेदन: 21 से 31 अक्टूबर
  • दस्तावेज जमा कराने की अंतिम तिथि: 6 नवंबर
  • उप शिक्षाधिकारी कार्यालय में प्रपत्रों की जांच: सात से 13 नवंबर
  • प्रवेश के लिए लाटरी: 15 नवंबर
  • लाटरी परिणाम जारी: 16 नवंबर
  • निजी स्कूलों में प्रवेश: 17 से 26 नवंबर
  • पोर्टल पर प्रवेशित बच्चों की सूची अपलोड: 28 नवंबर से तीन दिसंबर

व्यापक प्रचार-प्रसार के बाद भी सीटें खाली रहना चिंताजनक है। अभिभावकों के अनुरोध पर रिक्त सीटों के लिए तीसरी बार आवेदन प्रक्रिया शुरू की जा रही है। पहले दो चरण में आवेदन करने वालों को फिर से आवेदन करने की जरूरत नहीं होगी।

-बंशीधर तिवारी, राज्य परियोजना निदेशक समग्र शिक्षा

Edited By: Rajesh Verma

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट