काशीपुर (ऊधमसिंह नगर), जेएनएन : जीजा और साले का संबंध भारतीय समाज में बेहद स्‍नेहपूर्ण और सम्‍मानजनक होता है। लेकिन इस संबंध को एक शातिर मंसूबे वाले व्‍यक्ति ने तार-तार कर दिया। ससुराल की सम्‍पत्ति हड़पने की लालच में उसने अपने ही साले की हत्‍या के लिए दो किलरों को सुपारी दे दी। पंजाब पुलिस ने ही सुपारी किलरों को गिरफ्तार किया है। मंगलवार को एक बदमाश को लेकर काशीपुर पहुंची पंजाब पुलिस ने आरोपित जीजा की तलाश में उसके घर और संभावित ठिकानों पर दबिश दी मगर कोई सुराग नहीं लगने पर बैरंग लौटना पड़ा।

जानिए क्‍या है पूरी वारदात की कहानी

कविनगर निवासी पवन राठौड़ ने बताया कि पिता अशोक राठौड़ ने उनकी बहन का विवाह फरवरी 2016 में काशीपुर के मोहल्ला ओझान निवासी रवि चौहान पुत्र ध्यानसिंह के साथ किया था। बड़े भाई की मौत के बाद वह दो साल से पंजाब के मोहाली जिले के डेराबस्ती क्षेत्र में एक फैक्ट्री में काम कर रहा है। पांच दिसंबर को पंजाब पुलिस की नाहर लेहनी चेेक पोस्ट से उसके पास फोन आया। वह चौकी गया तो पता चला कि चार दिसंबर की रात अंबाला की ओर से आ रहे ऑटो की पंजाब के मोहानी जिले की नाहर लेहली चेकपोस्ट पर चेकिंग की गई, तो उसमें दो युवकों को असलहे के साथ गिरफ्तार किया गया। उनकी पहचान रवि सक्सेना और शकील अहमद निवासी काशीपुर के रूप में हुई। पुलिस ने आरोपितों के कब्जे से एक देशी तमंचा और तीन जिंदा कारतूस बरामद किए है।

जीजा के कहने पर हत्‍या करने जा रहे थे किलर

पुलिस ने आरोपितों का धारा 302, 511, 115  के तहत चालान किया है। दोनों शूटर काशीपुर निवासी उसके जीजा रवि चौहान के कहने पर उसकी हत्या करने आए थे। नाहर लेहली चौकी प्रभारी कुलवंत ङ्क्षसह के अनुसार पकड़े गए बदमाशों ने बताया कि रवि चौहान ससुराल की संपत्ति हड़पना चाहता है। उसका साला पवन इसमें आड़े आ रहा था। पूछताछ के बाद पंजाब पुलिस ने रवि चौहान के खिलाफ भी संबंधित धाराओं में मुकदमा दर्ज किया है।

पांच लाख में दी हत्या की सुपारी

नाहर लेहली चौकी प्रभारी कुलवंत सिंह ने बताया कि हत्या के बाद दोनों आरोपितों को पांच लाख रुपये दिए जाने थे। लेेहली पुलिस के अनुसार पवन को सुबह कंपनी की बस पकडऩे के लिए पैदल आते समय मारने का प्लान बनाया गया था।

पिता पर हुआ था हमला और भाई की जहर खाने से मौत

पवन राठौड़ ने बताया कि पिता पर कुछ साल पहले हमला हुआ था, तीन साल पहले बड़े भाई की जहर खाने से मौत हो गई थी। उसने दोनों घटनाओं के पीछे भी रवि का ही हाथ होने की आशंका जताई।

यह भी पढ़ें : शिवा का अपहरण करने वालों ने ही ढाई साल पहले किया था शिवम भी बरामद अपहरण

यह भी पढ़ें : छात्रवृत्ति घोटाले के मुख्य आरोपित संयुक्त निदेशक नौटियाल की जमानत मंजूर

Posted By: Skand Shukla

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस