पिथौरागढ़/मुनस्यारी/धारचूला, जेएनएन : पिथौरागढ जिले में मौसम का मिजाज बदल गया है। जिलेभर में बारिश हो रही है। मुनस्यारी, नारायण आश्रम में हिमपात जारी है। उच्च हिमालय में भारी हिमपात हो रहा है। कालामुनि और बिटलीधार में भारी बर्फबारी से थल-मुनस्यारी मार्ग बंद हो चुका है। कैलास मानसरोवर यात्रा मार्ग पर गाला से लेकर चीन सीमा लिपूलेख तक बर्फबारी हो रही है। मुनस्यारी में न्यूनतम तापमान एक व जिला मुख्यालय में पांच डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया।

तीन से चार इंच तक हुआ हिमपात

बुधवार रात्रि से जिले में मौसम का रंग बदल गया। मध्य रात्रि के बाद उच्च हिमालय में हिमपात होने लगा। सुबह तीन बजे के आसपास से जिलेभर में बारिश होने लगी। इस दौरान मुनस्यारी में भी हिमपात होने लगा। गुरु वार दोपहर तक मुनस्यारी बाजार के निचले हिस्से में तीन से चार इंच तक बर्फबारी हुई। जबकि नगर के ऊपरी हिस्से में लगभग पांच इंच हिमपात हो चुका है। वहीं, पातलथौड़, बलाती, बिटलीधार और कालामुनि में एक से डेढ़ फीट बर्फ गिर चुकी है। थल-मुनस्यारी मार्ग यातायात के लिए बंद हो चुका है। थल से मुनस्यारी जा रहे वाहन गिरगांव से वनिक तक फंसे हुए हैं। वहीं मुनस्यारी से वाहन वाया मदकोट होकर चल रहे हैं।

यहां हो रहा है सर्वाधिक हिमपात

उधर, धारचूला में दारमा, व्यास में भारी हिमपात हो चुका है। चौंदास घाटी में भी हिमपात जारी है। रुंगलिंग टॉप से लेकर नारायण आश्रम, सोसा में हिमपात हो चुका है। धारचूला में छानाधार तक बर्फ गिर चुकी है। कैलास मानसरोवर यात्रा मार्ग पर गाला से लेकर लिपूलेख तक हिमपात जारी है। पिथौरागढ़, धारचूला, डीडीहाट, थल, नाचनी, बेरीनाग, गंगोलीहाट, गणाईगंगोली आदि स्थानों पर बारिश हो रही है। ठंड बढऩे से बाजारों में भीड़ कम है। यातायात भी प्रभावित हुआ है।

यह भी पढ़ें : समर वैकेशन की तैयारी अभी से, वेबसाइट और मोबाइल एप से जुड़ेंगे नैनीताल के पार्किंग स्थल 

यह भी पढ़ें : प्राकृतिक स्थल पर संरक्षित होगी हिमालयी वनस्पति, जानिए क्‍या है योजना

Posted By: Skand Shukla

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस