जागरण संवाददाता, सितारगंज : धान खरीद में कटौती की शिकायत की जांच कर कृषि उत्पादन मंडी समिति महाप्रबंधक ने सितारगंज के तीन मंडी निरीक्षक, मंडी सहायक व लेखाकार का अनियमितताओं के आरोप में तबादला कर दिया है। वर्ष 2020-21 में धान क्रय नीति के अंतर्गत कच्चे आढ़तियों के माध्यम से खरीद के मामले में किसानों ने आढ़तियों पर धान खरीद में मनमानी कटौती करने का आरोप लगाया था। साथ ही रोष भी जताया था।

किसानों का आरोप था कि धान खरीद में प्रति क्वि‍ंटल 10 से 15 फीसद कटौती की गई जो नियम के खिलाफ है। इस मामले में ग्राम हल्दुआ निवासी किसान हरमीत सिंह पुत्र सुबेग सिंह ने शिकायत दर्ज भी कराई थी। मामले की जांच कमेटी गठित की गई थी। जांच कमेटी के समक्ष प्राथमिक जांच में अनियमितताएं पाई गईं। इसके आधार पर कृषि उत्पादन मंडी समिति के महाप्रबंधक वित्त ने सितारगंज मंडी समिति के तीन निरीक्षक, मंडी सहायक व लेखाकार को सितारगंज से हटा दिया है।

उन्होंने मंडी सचिव को तत्काल संबंधित अधिकारी, कर्मचारियों को कार्यमुक्त करने के आदेश जारी किए हैं। मंडी सचिव विनोद पलडिय़ा ने बताया कि धान खरीद में कटौती की शिकायत की गई थी, जिसकी जांच रिपोर्ट के आधार पर तीन मंडी निरीक्षक समेत छह कर्मचारियों के ट्रांसफर के आदेश प्राप्त हो गए हैं। उन्होंने बताया विगत वर्ष करीब चार लाख कुंटल धान खरीद की गई थी।

इनके हुए तबादले

मंडी निरीक्षक बच्चे लाल दुबे को सितारगंज से रामनगर, इंद्र बहादुर चंद को गदरपुर मंडी निरीक्षक, नरेंद्र प्रकाश पंत को रुद्रपुर मंडी निरीक्षक, मनोज कुमार को रुद्रपुर मंडी सहायक, निर्मला वर्मा किच्छा मंडी सहायक, लेखाकार त्रिभुवन स‍िंह बोहरा को सितारगंज से जसपुर तबादला कर दिया गया है।

Edited By: Skand Shukla