नैनीताल, जागरण संवाददाता : Dainik Jagran Sarv Dharm Prarthna Uttarakhand : पहली बार दुनिया ने ऐसी महामारी का सामना किया, जिसमें दिवंगत हुए लोगों को अपने तक कंधा नहीं दे सके। इस महामारी में फ्रंटलाइन वॉरियर्स ने जान जोखिम में डालकर मरीजों की सेवा की। इन्हीं योद्धाओं और दिवंगत को सलाम करने के लिए दैनिक जागरण 14 जून को पूर्वाह्न 11 बजे सर्वधर्म प्रार्थना करा रहा है। इस आयोजन की बुद्धिजीवी तबके ने दिल खोलकर सराहना करते हुए लोगों से भी इसमें शामिल होने की अपील की है।

अधिवक्ता समाज दिवंगतों को देगा श्रद्धांजलि

उत्तराखंड बार काउंसिल के चेयरमैन अर्जुन सिंह भंडारी ने कहा कि कोविड महामारी से समाज का हर तबका प्रभावित हुआ। बड़ी संख्या मेें लोग काल कवलित हुए। जागरण ने कोविड महामारी से जंग तथा इसको लेकर समाज को जागृत करने का सराहनीय आयोजन किया है। अधिवक्ता समाज इस कार्यक्रम में शामिल होकर दिवंगतों को श्रद्धांजलि देगा।

 

फ्रंटलाइन वारियर्स का उत्साहवर्धन जरूरी

हाई कोर्ट बार एसोसिएशन के सचिव विकास बहुगुणा कहते हैं किकोविड महामारी के काल में संक्रमण पर काबू करने में फ्रंटलाइन वारियर्स ने अहम भूमिका निभाई है। उनके योगदान को हमेशा याद रखा जाएगा। फ्रंटलाइन वारियर्स का उत्साहवर्धन जरूरी है। दिवंगत लोगों को श्रद्धांजलि भी दी जाएगी। बुद्धिजीवी तबके से अपील है कि इस आयोजन में शामिल हों।

 

जागरण की पहल सराहनीय

हाई कोर्ट बार एसोसिएशन के अध्यक्ष अवतार सिंह रावत कहते हैं कि कोविड महामारी में अनगिनत लोगों की जानें चली गईं। लोगों ने अपनों को खोते हुए देखा, मगर कुछ नहीं कर सके। संक्रमण के काल में फ्रंटलाइन वारियर्स ने दिन-रात एक कर कई लोगों की जान बचाई। उनको नमन है। जागरण ने यह सराहनीय पहल की है। इसमें सबको भागीदारी करनी चाहिए।

कोविड ने कइयों को दिया जीवन भर का गम

उत्तराखंड हाई कोर्ट के मुख्य स्थाई अधिवक्ता चंद्रशेखर रावत का कहना है कि कोविड महामारी अनेक परिवारों को जीवनभर का गम दे गई। संक्रमण के खतरे व दूसरी वजहों से वे अपनों के अंतिम संस्कार तक में नहीं जा सके। डॉक्टर, मेडिकल स्टाफ समेत अन्य फ्रंटलाइन वारियर्स की बदौलत ही अंजान शत्रु से जंग लड़ी जा सकी। फ्रंटलाइन वॉरियर्स को सलाम है।

Uttarakhand Flood Disaster: चमोली हादसे से संबंधित सभी सामग्री पढ़ने के लिए क्लिक करें

Edited By: Skand Shukla