हल्द्वानी, जेएनएन : प्रवासियों के लौटने के साथ ही संक्रमण का खतरा तेजी से बढ़ता जा रहा है। 21 मई को महाराष्ट्र से ही लौटे 96 लोगों में कोरोना पॉजिटिव आने के बाद शुक्रवार को मुंबई से ही ट्रेन से लौटे 80 और लोगों में कोरोना संक्रमण की पुष्टि हुई है। सभी लोग नैनीताल व अल्मोड़ा जिले के रहने वाले हैं। प्रदेशभर में एक साथ इतनी संख्या में मरीजों के पॉजिटिव आने का यह पहला मामला है। इस स्थिति से जिला प्रशासन, स्वास्थ्य विभाग से लेकर आमजन में खलबली मच गई है।

 

जिले में एक ही दिन में 84 लोग कोविड-19 पॉजिटिव आए हैं। मुंबई से 27 मई को ट्रेन से प्रदेश भर के 1452 प्रवासी लालकुआं रेलवे स्टेशन पहुंचे थे। इसमें से नैनीताल व अल्मोड़ा जिले के लोगों को हल्द्वानी और बागेश्वर के यात्रियों को रामनगर में क्वारंटाइन कर दिया गया था। अपर मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ. रश्मि पंत के अनुसार नैनीताल व अल्मोड़ा के 319 लोगों के सैंपल लिए गए थे।

 

शुक्रवार की रात को 80 लोगों की रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। इसके अलावा शुक्रवार को ही बागेश्वर के 300 लोगों के सैंपल लेकर जांच को राजकीय मेडिकल कॉलेज के वायरोलॉजी लैब में भेजे हैं। इसी के साथ ही जिले में मरीजों की संख्या 222 हो गई है। इसमें 201 सक्रिय केस हैं। इन मुश्किल हालात में भी स्वास्थ्य महकमा जरूरी व्यवस्थाओं में जुटा है। संक्रमितों के उपचार के समुचित प्रबंध सुनिश्चित किए जा रहे हैं। 

महाराष्ट्र से बस में आए 26 प्रवासियों को देवीधुरा में क्वारंटाइन करने का ग्रामीणों ने किया विरोध  

यहां के ग्रामीणों का हौसला ही कोरोना को हराएगा, उत्‍तराखंड से भगाएगा

 

 

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस