संदीप जुनेजा, रुद्रपुर। इंग्लैंड की रायफल से दो सगे भाइयों की हत्या को अंजाम दिया गया था। रायफल पर बीएसए मेड इन इंग्लैंड अंकित है। पुलिस रायफल के संबंध में भी जानकारी जुटाने में लग गई है। माना जा रहा है कि उसका बोर अलग होने के कारण ही बरामद खाली कारतूस को लेकर भ्रम की स्थिति बनी थी। पुलिस ने रायफल के साथ ही बरामद खाली कारतूस को फारेंसिक जांच के लिए भेजने की तैयारी कर ली है।

डबल मर्डर में एक के बाद एक पांच फायर करने पर रायफल को बार बार लोड करने पर उसमें से खाली कारतूस घटनास्थल पर ही गिर गए थे। डबल मर्डर के बाद आरोपित वहां से आनन फानन भाग निकला था। बाद में वहां पहुंची पुलिस ने घटना स्थल पर पड़े पांचों खाली कारतूस बरामद कर कब्जे में लेकर सील कर दिए थे। मृतक के परिवार में हथियार के जानकारों ने जब बरामद खाली कारतूस देखे तो उसके 30 बोर के होने की संभावनाओं के बीच हत्या में प्रयुक्त हथियार को लेकर भ्रम की स्थिति बन गई थी। उन्होंने पुलिस के सामने 315 बोर व 30 बोर के कारतूस में अंतर पर भी बात की।

स्वजनों ने भी अपनी इस आशंका को उच्च अधिकारियों के सामने भी व्यक्त किया था। जब पुलिस ने मुख्य आरोपित राकेश मिश्रा को पकड़ उसकी निशानदेही पर रायफल बरामद की तो वह रायफल विदेशी निकली। लेकिन पूछताछ में आरोपित द्वारा इसी रायफल का प्रयोग करने की बात स्वीकार की। जिससे पुलिस ने मृतक के स्वजनों की आशंका को भी समाप्त करते हुए बरामद रायफल की एफएसएल जांच की बात कहीं है। माना जा रहा है कि विदेश में बनी रायफल के बोर में भारत में बनी रायफल में फर्क होने के कारण स्थिति एफएसएल की रिपोर्ट आने पर ही स्पष्ट हो पाएगी।

नेपाल भागने की थी तैयारी

डबल मर्डर का मुख्य आरोपित पुलिस से बचने के लिए नेपाल में शरण लेने की योजना बना चुका था। पुलिस उसको सहीं समय पर नहीं पकड़ती तो वह नेपाल निकल जाता। उसे पता था कि दो हत्या करने के बाद उसका बच पाना संभव नहीं है। जिससे उसने नेपाल जाकर पुलिस से बचने का प्रबंध कर लिया था। वह उत्तर प्रदेश से लगी सीमा के रास्ते नेपाल जाने की फिराक में था। लेकिन उससे पहले ही पुलिस को उसकी भनक लग गई और पुलिस ने उसे दबोच लिया।

महापंचायत को लेकर भी प्रशासन सजग

महापंचायत को लेकर प्रशासन सजग है। विधायक राजकुमार ठुकराल के साथ भी प्रशासन ने स्वजनों से वार्ता कर मामले को शांत करने का प्रयास किया। इसके साथ ही विधायक ठुकराल के माध्यम से कोतवाली में स्वजनों से वार्ता कर डबल मर्डर को लेकर स्वजनों की आशंकाओं का भी समाधान किया। जिससे आरोपित को जेल भेजने को लेकर किसी तरह का विरोधाभास प्रशासन व आक्रोशित लोगों के बीच टकराव का कारण न बन सके। इसके चलते प्रशासन लगातार कदम फूंक कर रख रहा है।

एसपी सिटी ममता वोहरा ने बताया कि बरामद रायफल के बोर को लेकर संशय की स्थिति है। रायफल के साथ ही बरामद कारतूस व घटना स्थल से बरामद खाली कारतूस को जांच के लिए एफएसएल भेजा जा रहा है, उसकी रिपोर्ट आने के बाद ही स्थिति स्पष्ट हो पाएगी।

Uttarakhand Flood Disaster: चमोली हादसे से संबंधित सभी सामग्री पढ़ने के लिए क्लिक करें

Edited By: Prashant Mishra