जागरण संवाददाता, हल्द्वानी : लॉकडाउन की वजह से देसी-विदेशी शराब की दुकानें बंद होने की वजह से कच्ची शराब की तस्करी बढ़ने के मामले आने पर आबकारी महकमा अलर्ट हो गया है। मंगलवार को आबकारी महकमे की टीम ने टाडा जंगल में काबिंग कर अवैध शराब की भट्ठिया तोड़ी। पेड़ों पर मचान बनाकर लहन जमा देख आबकारी महकमे की टीम दंग रह गयी। टीम ने 700 किलो लहन नष्ट करने के साथ ही 115 लीटर कच्ची शराब बरामद की है। तीन अज्ञात तस्करों के बीच आबकारी एक्ट में मुकदमा दर्ज करने के साथ ही टीम भट्ठी के उपकरण जब्त कर लिए।

लॉकडाउन की वजह से देसी-विदेशी शराब की दुकानें व बार बंद हुए करीब सवा महीने का समय बीत चुका है। ऐसे में कच्ची शराब की तस्करी तेजी से बढ़ चुकी है। कच्ची शराब के लगातार मामले सामने आने पर आबकारी निरीक्षक महेंद्र बिष्ट के नेतृत्व में टीम ने टाडा जंगल में काबिंग की। आबकारी निरीक्षक ने बताया कि पीपलपड़ाव रेंज में अदवा नाले के किनारे छापे के दौरान दो भट्ठियां मिली। तस्करों ने पेड़ पर मचान बनाकर ड्रमों में लहन एकत्र की थी जबकि नींचे भट्टी जला रखी थीं। आबकारी टीम को आते देख तीन तस्कर फरार हो गए। मौके से मिली लहन को नष्ट कर शराब तथा शराब बनाने के उपकरण जब्त किए गए।

सुरागरसी में पता चला कि ऊधमसिंह नगर जिले के अर्जुनपुर व बिंदुखेड़ा के तस्कर अलवा नाले के पास भट्ठिया बनाकर कच्ची शराब बनाते हैं। शराब को जंगल के रास्ते ऊधमसिंह नगर व नैनीताल जिले के मजदूरों व आसपास के गावों में सप्लाई की जा रही है। आबकारी टीम में आबकारी निरीक्षक पूरन जोशी, आबकारी निरीक्षक हरीश जोशी, उपनिरीक्षक मोहन सिंह कोरंगा, आनंद दोसाद, महेश लोहनी, जगत सिंह व धीरेंद्र कुमार शामिल थे।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस