नरेश कुमार, नैनीताल : दुष्कर्म की सजा से बचने के लिए दिल्ली निवासी युवती से शादी करने और फिर डेढ़ माह पहले घुमाने बहाने नैनीताल लाकर हत्‍या के मामले ने सबको झकझोर कर रख दिया है। आरोपित राजेश का बबीता के साथ जिन हालातों में विवाह हुआ था, उस कहानी का अंत शायद इसी तरह लिखा था। राजेश को बबीता से विवाह दबाव में करना पड़ा था। शादी कर वह दुष्कर्म की सजा से बचना चाहता था। मूल रूप से उधमसिंह नगर निवासी राजेश गोविंदपुरी दिल्ली में रहता था, जहां वह और बबीता दोनों एक ही मॉल में साथ काम करते थे। इसी दौरान दोनों में नजदीकियां बढ़ीं तो प्रेम-प्रसंग शुरू हो गया। इस बीच दोनों में शारीरिक संबंध भी बन गए और बबीता गर्भवती हो गई।

उसने जब राजेश से शादी की बात की तो राजेश ने शादी करने से इन्कार कर दिया, जिसके बाद बबीता ने 14 जुलाई 2020 को डाबरी थाने में राजेश के खिलाफ दुष्कर्म का मुकदमा दर्ज करा दिया। इस मामले में राजेश कुछ दिनों तक न्यायिक हिरासत में जेल में रहा, मगर कुछ ही समय बाद दोनों में समझौता हो गया और सजा से बचने के लिए राजेश बबीता से शादी को राजी हो गया। इसके बाद बबीता ने भी कोर्ट में शपथ पत्र देकर राजेश से करीब आठ माह पूर्व विवाह कर लिया, मगर राजेश इस शादी से खुश नहीं था।

पारिवारिक कलह भी बना कारण

पुलिस पूछताछ में आरोपित ने बताया कि अक्सर परिवार में कलह के चलते बबीता मायके चली जाया करती थी, जहां उसकी मां उसे तरह-तरह की बातें सिखा कर वापस भेजती थी। रोज की किचकिच से परेशान होकर उसने दिल्ली में ही पत्नी की हत्या का प्लान बना दिया था।

13 किलोमीटर पैदल चलने के बाद कर दी हत्या

आरोपित ने बताया कि 11 जून को वह उधमसिंहनगर में मां की तबीयत खराब होने की बात बताकर पत्नी को दिल्ली से ले आया था, जहां से वह सीधे घूमने के लिए नैनीताल पहुंच गया। 12 जून को वह पत्नी के साथ पैदल ही हल्द्वानी की ओर निकल गया। नैनीताल छोडऩे के कुछ देर बाद ही उसने पत्नी का फोन भी बंद कर दिया और नैनीताल से करीब 13 किलोमीटर पैदल चलने के बाद वह उसे एक कलमठ में ले गया और शारीरिक संबंध बनाने के बाद उसने गला दबाकर पत्नी की हत्या कर दी।

करीब दस दिन पूर्व प्रेमिका के साथ दोबारा आया था नैनीताल

आरोपित ने पकड़े जाने के बाद कबूला की वह पत्नी की हत्या करने के बाद दिल्ली लौट गया था। करीब डेढ़ माह वहां रहने के बाद कुछ दिन पूर्व वह उधमसिंहनगर पहुंचा, जहां से वह अपनी पूर्व प्रेमिका को घुमाने के लिए दस दिन पूर्व नैनीताल आया था।

अपराधियों को भा रही पहाड़ की शांत वादियां

पहाड़ की शांत वादिया अपराधियों द्वारा हत्या कर लाशे ठिकाने लगाने का अड्डा बन रही है। इसका अंदाजा इस बात से लगाया जा सकता है। आरोपित से पूछताछ में सामने आया कि उसने दिन के दो बजे सड़क के ठीक बगल में स्थित कलमठ में पत्नी की हत्या कर दी। कोविड के चलते वाहनों की कम आवाजाही होने के कारण किसी को इसकी भनक तक नहीं लगी। डेढ़ माह में शव पूरी तरह गल गया था, मगर कलमठ बंद होने और पानी की उपलब्धता होने के कारण शव से दुर्गंध तक नहीं आई, जिससे किसी राहगीर व पुलिस का इस ओर ध्यान नहीं गया।

Edited By: Skand Shukla