हल्द्वानी, जेएनएन : शुक्रवार सुबह से ही मौसम में बदला हुआ है। तराई से लेकर पहाड़ तक धुंध छाया हुआ है। मौसम विभाग ने शुक्रवार व शनिवार को प्रदेश के पांच जिलों में हल्की से मध्यम बारिश की संभावना जताई है। तीन हजार मीटर से अधिक ऊंचाई वाली चोटियों पर बर्फबारी होने से ठंड में इजाफा हो सकता है।

देहरादून मौसम विज्ञान केंद्र के निदेशक विक्रम सिंह का कहना है कि मौसम में एक बार फिर बदलाव की उम्मीद है। जिसका असर अगले दो दिन बना रह सकता है। कुमाऊं मंडल पिथौरागढ़, बागेश्वर व गढ़वाल में उत्तरकाशी, चमोली, रुद्रप्रयाग जिलों में हल्की से मध्यम बारिश की संभावना है। प्रदेश के अन्य हिस्सों में मौसम शुष्क रहने का अनुमान है। इधर मौसम में बदलाव के बाद ठंड में इजाफा होने लगा है। गुरुवार को हल्द्वानी का अधिकतम तापमान 27.0 डिग्री व न्यूनतम 10.4 डिग्री रहा। मुक्तेश्वर में न्यूनतम तापमान 6.3 डिग्री, पिथौरागढ़ में 8 डिग्री रहा।

पश्चिमी विक्षोभ सक्रिय, लोगों ने निकाले गर्म कपड़े

मौसम विभाग की मानें तो आने वाले दिनों में मौसम करवट बदलने जा रहा है। शुक्रवार को राज्य के कई जिलों में बारिश होगी, जबकि अन्य हिस्सों में बादल छाए रहने की संभावना है। इधर गुरुवार को नैनीताल में अधिकांश समय बादल छाए रहने से ठंड का प्रकोप बढ़ चला है। जिसके चलते लोगों को गर्म तथा ऊनी कपड़ों का सहारा लेने के लिए मजबूर होना पड़ा, वहीं कार्यालयों में हीटर के सहारे कामकाज चला। मौसम विभाग के राज्य निदेशक डा. विक्रम सिंह के अनुसार पश्चिमी विक्षोभ सक्रिय होने जा रहा है। जिसके चलते इस माह के शेष दिनों में मौसम खराब रहने वाला है। तीन हजार फिट से अधिक उंचाई वाले क्षेत्रों में हिमपात होने की संभावना है। 26 नवंबर से पश्चिमी विक्षोभ का असर रहेगा। जीआइसी मौसम विज्ञान केंद्र के अनुसार अधिकतम तापमान 17 व न्यूनतम 9 डिग्री सेल्सियस रहा। आद्रता अधिकतम 80 व न्यूनतम 55 प्रतिशत दर्ज किया गया।

यह भी पढ़ें : स्‍टेशन पर नहीं करना होगा घंटों इंतजार, ट्रेन के लेट होने पर आएगा एसएमएस

यह भी पढ़ें : आज से शुरू हो जाएगी पिथौरागढ़-देहरादून हवाई सेवा, दिल्‍ली के लिए फिलहाल नहीं

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप