नैनीताल, जेएनएन : गांवों में बनाए गए क्वारंटाइन सेंटर्स से अव्यवस्थाओं की खबरें जगह-जगह से आ रही हैं। कहीं लोगाें को भोजन नहीं मिल पा रहा है तो किसी को बिस्तर। फिजिकल डिस्टेंसिंग का उल्लंघन भी खूब हो रहा है। यही कारण है कि लोग क्वरंटाइन सेंटर में रुकने से घबरा रहे हैं और चोरी-छिपे घर निकल जा रहे हैं। जिससे संक्रमण का खबतरा बढ़ गया है। ऐसे में उत्तराखंड के पौड़ी गढ़वाल जिले के नैनीडांडा ब्लॉक के ग्राम प्रधान और वहां के लोगों ने इन चुनौतियों से पार पाने के लिए अभिनव प्रयोग किया है। दरअसल गांव के बाहर कैंपि‍ंंग टेंट की तर्ज पर यहां बाहर से आने वाले लोगों को क्वारंटाइन करने की व्यवस्था की जा रही है। इस व्यवस्था से प्रवासी भी प्रसन्न  है और फिजिकल डिटेंसिंग के नियमों का भी बखूबी पालन हो रहा है। 

गांव के बाहर प्रधान ने लगाए नौ टेंट 

नैनीडांडा ब्लॉक के भोपाटी गांव की प्रधान जशोदा रावत ने स्थानीय ग्रामीणों के सहयोग से नौ क्वारंटाइन सेंटर गांव के बाहर बनवाए हैं। यह काम उन्होंने गांव के ही डब्बल सिंह के सुझाव और लोगों के आर्थिक सहियोग से की है। ग्राम प्रधान ने बताया कि कोरोना संक्रमण का खतरा उत्तराखंड में अब तेजी से फैल रहा है। दूसरे राज्यों में फंसे उत्तराखंड के प्रवासियों को लाने के लिए सरकार ने प्रयास तेज कर दिए हैं। ट्रेन और बसों के सहारे लाेगों को लाया जा रहा है। उन्हें गांव के पंचायत भवन और स्कूलों में क्वारंटाइन किया जा रहा है। लेकिन वहां फिजिकल डिस्टेंसिंग का उल्लंघन हो रहा है। ऐसे में गांव के बाहर ही टेंट में क्वारंटाइन करने की व्यवस्था की गई है। इस व्यवस्था से बाहर से आने वाले लोग भी खुश हैं। जिले के डीएम जिलाधिकारी धीरज गब्र्याल ने भी ग्राम व ग्रामीणों की प्रयास की सराहना की है।   

कांग्रेस करेगी ग्रामीणों को सम्मानित 

नेता प्रतिपक्ष डाॅ. इंद्रा हृदयेश ने नैनीडांडा की प्रधान जशाेदा रावत को फोन कर बधाई दी और उनकेे काम की सराहना की। ग्राम प्रधान जशोदा रावत ने कहा कि ग्रामीणों के सहयोग से नौ स्व निर्मित कोरोनटाइन केंद्र बनाए गए हैं। इस नेता प्रतिपक्ष ने कहा कि वक़्त आने पर सभी लोगों को पहाड़ों में इसी प्रकार की एकजुटता दिखाकर विपदा का सामना करना होगा। कांग्रेस जल्द ही भोपाटी की प्रधान जसोदा रावत और वहां के युवा डब्बल सिंह रावत और अन्य ग्रामीणों के उनके शानदार काम के लिए सम्मानित करेगी। बता दें कि नैनीडांडा ब्लॉक में हाल में एक युवक की रिपोर्ट कोरोना पॉजिटिव आई है। 

क्वारंटाइन करने पर रामनगर में भाइयों ने कर दिया था हमला 

अव्यवस्थाओं के कारण बाहर से आने वाले लोग संस्थागत क्वारंटाइन सेंटर में रुकने से घबरा रहे हैं। नैनीताल के कोटाबाग ब्लॉक में बीते दिनों रोहतक से पहुंचे दो सगे भाई क्वारंटाइन करने से भडुक गए थे । उन्होंने महिला प्रधान और उसके ससुर से बदतमीजी करने के साथ उन पर पथराव कर दिया। इतना ही नहीं क्वारंटाइन किए गए दो अन्य लोगों से मारपीट भी की थी। मामले की जांच के लिए गांव में तहसीलदार पहुंचे थे और दोनों भाईयों के खिलाफ कार्रवाई की गई थी। ऐसे में नैनीडांडा के ग्रामीणों की यह पहल लोगों को बेहतर करने के लिए प्रेरित करेगी। 

बाहर का खाना ऑर्डर करने से डर रहे लोग, रेस्‍टोरेंट में भी महज कन्फेक्शनरी आइटम मांग रहे 

नेता प्रतिपक्ष इंदिरा हृदयेश ने पौड़ी के ग्राम प्रधान की जनसेवा को राज्‍य के लिए मिसाल बताया   

Posted By: Skand Shukla

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस