जागरण संवाददाता, नैनीताल : सरोवर नगरी की मेधा को राष्ट्रीय स्तर पर नई पहचान मिली है। यहां के पार्वती प्रेमा जगाती सरस्वती विहार वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय के 12वीं के छात्र शिव त्यागी के प्रोजेक्ट को देश में पहला स्थान मिला है। तीन व चार दिसंबर को दिल्ली में आयोजित राष्ट्रीय स्तर की मेक टूमारो फॉर इनोवेशन जेनरेशन शोकेस-2018 में देश के सर्वश्रेष्ठ 50 प्रोजेक्ट आमंत्रित किए गए थे। शिव त्यागी ने स्मार्ट इलेक्ट्रो प्लेटर नामक प्रोजेक्ट बनाया था, जिसे राष्ट्रीय स्तर पर पहला स्थान पर मिला है। इसका पेटेंट भी शिव त्यागी के नाम से किया जाएगा। अगले साल मई में अमेरिका में होने वाले मेकर्स मेले में भारत सरकार की ओर से इस प्रोजेक्ट को भेजा जाएगा। अखिल भारतीय स्तर की यह प्रतियोगिता इंटेल की ओर से नीति आयोग के अटल टिंगरिंग लैब व इंडो-यूएस विज्ञान और तकनीकी फोरम के माध्यम से आयोजित किया गया था। विशिष्ट उपलब्धि हासिल करने के बाद विद्यालय पहुंचे त्यागी का फूल मालाओं से भव्य स्वागत किया गया। प्रधानाचार्य डॉ. किशनवीर सिंह शाक्य, विद्यालय प्रबंध समिति अध्यक्ष कामेश्वर प्रसाद काला, प्रबंधक डॉ. केपी सिंह, सह प्रबंधक श्रीराम ने इस उपलब्धि के लिए शिव के साथ ही उनके कोच रजत कुमार सिंह को बधाई दी है। क्या है स्मार्ट इलेक्ट्रो प्लेटर

शिव त्यागी ने बताया कि इस डिवाइस के माध्यम से किसी वस्तु जैसे अंगूठी, गाडि़यों के पार्ट आदि पर किसी अन्य धातु सोना, चांदी, तांबा इत्यादि की परत चढ़ा सकता है। डिवाइस की विशेषता है कि ये बिना उस वस्तु को तोले और बिना इलेक्ट्रो प्लेटिंग को रोके उस वस्तु के अंतर को एलसीडी डिस्प्ले पर बता सकता है। वजन का अंतर सर्किट में करंट के प्रवाह से पता लगता है। यह डिवाइस प्रक्रिया पूरी होने में शेष समय भी बताता है। इसे इस तरह बनाया गया है कि नया व्यक्ति भी उपयोग कर सकता है। इसकी कीमत करीब पांच हजार आ रही है। इस डिवाइस को बड़े उद्योगों, ऑटोमोबाइल इंडस्ट्री के बड़े इलेक्ट्रो प्लेटिंग प्लांटों के सर्किट से भी जोड़ा जा सकता है। छोटे कारोबारी भी इसका इस्तेमाल कर सकते हैं। इससे इलेक्ट्रो प्लेटिंग कराने वाले व्यक्तियों के समय की बचत होगी और अधिक धातु की प्लेटिंग से हो रहे नुकसान में भी कमी आएगी।

Posted By: Jagran