नैनीताल, जागरण संवाददाता : मौसम विभाग द्वारा भारी बारिश का अलर्ट जारी करने के बाद पुलिस ने भी कमान संभाल ली है। डीआईजी नीलेश आनंद भरणे ने जिला कप्तानों और अन्य पुलिसकर्मियों के साथ बैठक कर जरूरी निर्देश दिए। साथ ही आपातकालीन स्थिति से निपटने के लिए तैयारियां चाक-चौबंद रखने को कहा। डीआईजी से मिले निर्देशों के बाद पुलिस ने मुनादी करवाकर पर्यटकों से वापस लौटने और सुरक्षित स्थान पर ही दो दिन तक बने रहने की अपील की। जिससे पर्यटकों और स्थानीय लोगों में भय बना हुआ है।

बता दें कि मौसम विभाग द्वारा दो दिनों के लिए भारी बारिश का अलर्ट जारी किया गया है। आपातकालीन स्थिति को देखते हुए पुलिस ने भी इससे निपटने के लिए मोर्चा संभाल लिया है। रविवार को डीआईजी नीलेश आनंद भरणे ने आईजी कार्यालय से जिले के पुलिस अधिकारियों की वर्चुअल माध्यम से3 बैठक ली। उन्होंने बताया कि अलर्ट जारी होने के बाद दोपहर में बैठक कर निर्देश दिए गए कि अल्मोड़ा, बागेश्वर, पिथौरागढ़ को जा रहे पर्यटकों को सुरक्षित स्थानों पर ही रोक लिया जाए। पर्यटक व अन्य यात्रियों को ऊंचाई वाले क्षेत्रों की ओर ना जाने दिया जाए।

साथ ही पर्यटकों से अपील की गयी है कि यदि वह लौटना चाहते हैं तो शाम तक तराई क्षेत्र की ओर लौट जाएं। अन्यथा भारी बारिश के दौरान दो दिनों तक सुरक्षित स्थान पर ही बने रहे। उन्होंने बताया कि मंडल में कर्मियों को आपातकालीन स्थिति से निपटने के इंतजाम चाक चौबंद रखने के निर्देश दिए गए है। बैठक में सभी जिलों के पुलिस अधिकारियों के साथ ही नैनीताल एसएसपी प्रीति प्रियदर्शनी, एएसपी हरीश वर्मा, सीओ प्रमोद साह, संदीप नेगी, कोतवाल प्रीतम सिंह, एसओ रोहिताश सिंह सागर समेत अन्य पुलिसकर्मी जुड़े रहे।

पुलिसकर्मियों ने मुनादी करवाकर की अपील

डीआईजी से निर्देश मिलने के बाद शाम को पुलिसकर्मियों ने वाहन से मुनादी करवाकर पर्यटकों से वापस लौट जाने की अपील की। साथ ही भारी बारिश के दौरान दो दिनों तक बाहर नहीं निकलने को कहां। पुलिस द्वारा मुनादी करवाने के बाद पर्यटकों में भी भय का माहौल बना रहा।

Edited By: Skand Shukla