हल्द्वानी, जेएनएन : उत्तराखंड के सीमांत जिले पिथौरागढ़ से हर बार खेल के क्षेत्र में नए चेहरे उभरकर सामने आ रहे हैं। देश में पहली बार आयोजित होने वाली इंटरनेशनल किक बॉक्सिंग में पिथौरागढ़ के किसान का बेटा हरेंद्र सिंह दमखम दिखाने को तैयार है। दिल्ली में नौ से 13 फरवरी तक प्रस्तावित इंटरनेशनल चैंपियनशिप के लिए हरेंद्र का चयन हुआ है।

पिथौरागढ़ जिले के तल्ला जोहार स्थित सैंणराठी गांव निवासी हरेंद्र के पिता हरमल सिंह मेहता किसान हैं। जबकि मां गंगा देवी गृहणी हैं। हरेंद्र का बड़ा भाई गोविंद सिंह गुजरात में प्राइवेट कंपनी में नौकरी करता है। बचपन से ही हरेंद्र देश सेवा के क्षेत्र में जाने की तमन्ना रखता था। ऐसे में उसे कराटे खेलने का शौक लगा, लेकिन बाद में उसने किक बॉक्सिंग खेल की तरफ रुख किया। अपने खेल को तराशने के लिए हरेंद्र हरेंद्र हल्द्वानी पहुंचा। यहां खेल निखारने के बाद वापस अपने गांव की तरफ चल पड़ा। अपनी मेहनत के बूते हरेंद्र ने साल 2019 नवंबर में तुर्की में आयोजित इंटरनेशनल किक बॉक्सिंग चैंपियनशिप में भाग लिया। वहीं, अब उसका चयन एक बार फिर वाको इंडियन ओपन इंटरनेशनल किक बॉक्सिंग चैंपियनशिप के लिए हुआ है। हरेंद्र वर्तमान में पिथौरागढ़ डिग्री कॉलेज से बीए कर रहा है।

लक्ष इंटरनेशनल की छात्रा प्रनिका भी चयनित

कमलुवागांजा स्थित लक्ष इंटरनेशनल स्कूल की चौथी कक्षा की छात्रा प्रनिका बिष्ट का चयन वाको इंडियन ओपन इंटरनेशनल किक बॉक्सिंग चैंपियनशिप के लिए हुआ है। उनकी इस सफलता को प्रबंधक मोहित शर्मा ने बड़ी उपलब्धि बताया है।

यह भी पढ़ें : चम्पावत में ब्रोकली बदलेगी काश्तकारों की तकदीर, उत्‍पादन का प्रशिक्षण देकर उपलब्‍ध कराया जाएगा बीज

Posted By: Skand Shukla

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस