नैनीताल, रमेश चंद्रा : जहां भी खूबसूरती का पैमाना तय होता है तो सबसे पहले जिक्र चांद का होता है। उस पर रंगत भी गुलाबी हो जाए तो क्या कहने। साफ नीले अंबर में टिमटिमाते असंख्य तारों के बीच कुछ ऐसी ही आभा लिए होगा चंदा। साल 2020 का सूपर मून यानी सबसे बड़ा चंद्रमा आपको आठ अप्रैल को देखने को मिलेगा। सुपर गुलाबी चंद्रमा या सुपर पिंक मून जो वसंत के मौसम का पहला पूर्ण चंद्रमा होगा, वह रात को आसमान में चमकता हुआ नजर आएगा। लेकिन दुर्भग्य की बात है कि इस खगोलीय घटना को भारत के लोग नहीं देख पाएंगे, क्योंकि यह सुबह 8 बजकर 5 मिनट में नजर आएगा और उस समय सूर्य की रोशनी बहुत तेज होगी।

जानिए क्या होता है सुपर मून

एक सुपरमून ऑर्बिट पृथ्वी के सबसे करीब होता है। हमारे ग्रह से ज्यादा नज़दीकी के कारण, चंद्रमा बहुत बड़ा और चमकीला दिखाई देता है। इस महीने का सुपर पिंक मून हमारे ग्रह से 3,56,907 किलोमीटर दूर बताया जा रहा है और आमतौर पर पृथ्वी और चंद्रमा के बीच औसत दूरी 384,400 किलोमीटर होती है। ज़रूरी नहीं है कि पूर्णिमा एक सुपरमून ही हो, क्योंकि चंद्रमा पृथ्वी के चारों ओर एक अण्डाकार कक्षा में घूमता है। पूरा चंद्रमा हमें तब भी दिखाई दे सकता है, जब वह हमारे ग्रह से ज्यादा दूरी पर हो। 2020 का आखिरी सुपरमून 9 मार्च से 11 मार्च के बीच दिखाई दिया था। मार्च के सुपरमून को लोकप्रिय रूप से सुपर वॉर्म मून कहा गया था।

क्यों कहा गया सुपर मून को पिंक मून

आर्यभटट् प्रेक्षण शोध संस्थान (एरीज) नैनीताल के वरिष्ठ खगोल वैज्ञानिक डॉ. शशिभूषण पांडे ने बताया कि जब बात फुल मून यानी पूर्णिमा के नाम की आती है, तो यह प्रक्रिया आमतौर पर मूल अमेरिकी क्षेत्रों और मौसमों पर निर्भर करती है। हालांकि 'पिंक मून' नाम का मतलब यह नहीं है कि इस दिन चंद्रमा का रंग गुलाबी दिखाई देता है, बल्कि यह नाम एक गुलाबी फूल (Phlox subulata) से आता है, जो उत्तर अमेरिका के पूर्व में वसंत के समय खिलता है।

पिंक मून को ऑनलाइन देख सकते हैं लाइव

क्योंकि सुपर पिंक मून भारत में सुबह 8:05 बजे दिखाई देगा, इसलिए देश में लोगों को यह घटना केवल आसमान की ओर देखने से नहीं दिखाई देगी, क्योंकि दिन का उजाला होगा। लेकिन ऑनलाइन वेबसाइटों के जरिए आप सुपरमून को लाइव देख सकेंगे।

यह भी पढें 

15-16 दिन बाद जमातियों की कोरोना रिपोर्ट आई पाॅजिटिव, सकते में हल्‍द्वानीवासी 

12-12 घंटे की ड्यूटी कर बेस अस्पताल में टीम के साथ जमे हैं चिकित्सक 

सुशीला तिवारी मेडि‍कल कॉलेज में कोरोना पाॅजिटिव नौ मरीजों के भर्ती होने से हड़कंप  

Posted By: Skand Shukla

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस