जागरण संवाददाता, भवाली : नगर के रामगढ़ रोड पर चल रहे सुरक्षा दीवार निर्माण कार्य को रोकने पर पालिका व स्थानीय लोगों में विवाद हो गया। निर्माण कार्य करा रहे लोगों ने पालिका पर गलत तरीके से कार्य में बाधा डालने का आरोप लगाया हैं। वहीं, निर्माण कार्य करा रहे युवक ने पालिका से आरटीआइ में 1188 खेत की जानकारी मांगी गई है।

योगेश कुमार रामगढ़ रोड पर स्थित अपनी भूमि पर सुरक्षा दीवार का निर्माण का कार्य कर रहा था। तभी नगर पालिका कर्मी वहां पहुंचे और कार्य रोकने को कहा गया। इसी बीच दोनों पक्षों के बीच काफी तीखी बहस छिड़ गई। जिस कारण टीम को बैरंग लौटना पड़ा। जिसके बाद पालिका ईओ ईश्वर ङ्क्षसह रावत ने मौके पर पहुंच कर पटवारी से जमीन की पैमाइश कराई। सरकारी भूमि पर चुना डालकर वहां निर्माण कार्य नहीं करने की बात कही। योगेश ने बताया कि वह अपनी पुश्तैनी भूमि का दीवार का कार्य करा रहा है। जिसके खेत नंबरों की रजिस्ट्री के दस्तावेज भी उसके पास मौजूद है। हालांकि वहां मौजूद 1188 खेत नंबर नोटिफाइट एरिया में दर्ज है, जिसमें अन्य लोग अवैध रूप से बसे हैं। लेकिन हमारा काम 1189 रजिस्ट्री वाले खेत में चल रहा हैं। जिसपर जबरन पालिका काम रोक रही हैं।

उन्होंने आरटीआइ में 1188 खेत की जानकारी मांगी गई है। स्थानीय निवासी कानू सुयाल ने बताया कि नगर पालिका स्थानीय लोगों को परेशान कर कर रही हैं। ईओ ईश्वर ङ्क्षसह रावत ने बताया कि पटवारी के साथ जमीन की पैमाइश की गई है। 1188 व 86 नगर पालिका के नाम से खातेदारी में नापलेंड है। वही से 1189 जमीन खतौनी के रिकार्ड में टीका राम के नाम से दर्ज हैं। नक्शे से मिलान किया गया है। उक्त व्यक्ति से 1188 व 86 में निर्माण कार्य नहीं करने के को कहा गया है। उन्होंने कहा कि अगर पालिका की भूमि में निर्माण कार्य किया गया तो मुकदमा दर्ज की कार्रवाई की जाएगी। कोतवाल योगेश उपाध्याय ने बताया कि नगर पालिका ने जमीन की नापजोख के लिए पुलिस फोर्स मांगा गया। जिसपर सुरक्षा की दृष्टि से पुलिस कर्मी मौके पर भेजे गए।

Edited By: Prashant Mishra