नैनीताल, जेएनएन : हाई कोर्ट ने पतंजलि आयुर्विज्ञान शोध संस्थान हरिद्वार को बड़ा झटका दिया है। कोर्ट ने मेडिकल छात्रों की बढ़ी हुई फीस आठ सप्ताह में लौटाने का आदेश पारित किया है।

पतंजलि आयुर्विज्ञान शोध संस्थान में बीएएमएस के छात्र शुभम पंत व 23 अन्य द्वारा अवमानना याचिका दायर की गई थी। छात्रों का कहना था कि कोर्ट ने संस्थान को बढ़ी हुई फीस वापस करने के निर्देश दिए थे मगर संस्थान द्वारा बढ़ी फीस वापस नहीं की गई। याचिकाकर्ताओं के अनुसार उनसे 80 हजार फीस ली जानी थी मगर संंस्थान द्वारा 2.15 लाख रुपये फीस वसूली गई। न्यायाधीश न्यायमूर्ति मनोज कुमार तिवारी की एकलपीठ ने मामले को सुनने के बाद संस्थान को आठ सप्ताह में बढ़ी हुई फीस लौटाने का आदेश पारित किया है। कोर्ट ने छात्रों के उत्पीडऩ पर भी नाराजगी प्रकट की। 

यह भी पढ़ें : पूर्व सीएम हरीश रावत के स्टिंग मामले में हाईकोर्ट में हुई सुनवाई, अगली सुनवाई दो मार्च को

यह भी पढ़ें : हरिद्वार जिपं अध्यक्ष सुभाष वर्मा को नोटिस, हाई कोर्ट ने राज्य सरकार से जवाब भी मांगा

Posted By: Skand Shukla

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस