संवाद सहयोगी, रामनगर : Corbett national park : सफारी के लिए बंद चल रहे गिरिजा पर्यटन जोन को लेकर पर्यटन कारोबारियों के लिए खुशी की खबर आई है। सीटीआर से भेजे गए गिरिजा पर्यटन जोन (Girija tourism zone) को खोलने के प्रस्ताव पर राष्ट्रीय बाघ संरक्षण प्राधिकरण (NTCA) से अनुमति मिल गई है। विभाग ने जोन को जल्द खोलने की कार्रवाई शुरू कर दी है।

पिछले साल ही खुला था, फिर हो गया था बंद

पिछले साल नया जोन गिरिजा पर्यटन जोन (Girija tourism zone) के नाम से ढिकुली गांव से खोला गया था। पूर्व वन मंत्री हरक सिंह रावत ने इस जोन का विधिवत शुभारंभ भी किया था। इस साल जुलाई माह में इस जोन को विभाग ने यह कहकर इसे बंद कर दिया था कि पूर्व में जोन को जल्दबाजी में बिना एनटीसीए की अनुमति के शुरू कर दिया गया था। चूंकि नया जोन नियम विरूद्ध खोला गया है, लिहाजा उसे सफारी के लिए बंद कर दिया था।

जोन खुलवाने काे बलूनी ने किया प्रयास

बीते दिनों विधायक प्रतिनिधि मदन जोशी ने राज्य सभा सदस्य अनिल बलूनी (Anil baluni) से दिल्ली में मुलाकात कर नया जोन बंद होने की जानकारी दी थी। जिस पर बलूनी ने सीटीआर अधिकारियों से फोन पर वार्ता कर एनटीसीए से अनुमति दिलाने का भरोसा दिया था। यह जोन बंद रहने से पर्यटन कारोबारी भी प्रभावित हो रहे थे।

बाघ संरक्षण योजना में भी यह जोन प्रस्तावित

सीटीआर निदेशक धीरज पांडे ने बताया कि शनिवार को एनटीसीए (NTCA) से सीटीआर (CTR) को पत्र मिला है। जिसमें बताया गया कि बाघ संरक्षण योजना (tiger conservation plan) में भी यह जोन प्रस्तावित किया गया है। अनुमानित वाहन के साथ यह जोन उचित है। इसलिए इस जोन को खोलने की मंजूरी दी जाती है। विधायक प्रतिनिधि जोशी ने बताया कि राज्य सभा सदस्य बलूनी व सीटीआर निदेशक का काफी प्रयास रहा। जिस वजह से यह जोन खुल पाया है।

Edited By: Rajesh Verma

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट