हल्द्वानी, जेएनएन : लाल बहादुर शास्त्री पीजी कॉलेज हल्दूचौड़ में इस बार के छात्रसंघ चुनाव में भी एनएसयूआइ-एबीवीपी पर्दे के पीछे से ही दांव खेलेंगे। दोनों बड़े छात्र संगठनों में से अब तक किसी ने भी यहां अपना प्रत्याशी नहीं उतारा है। पदाधिकारियों ने भी स्पष्ट किया है कि वे किसी को ओपन सपोर्ट नहीं करेंगे।

इस कॉलेज में अब तक केवल दो ही बार 2017 और 2018 में छात्रसंघ चुनाव हो सके हैं। दोनों चुनावों में अध्यक्ष, उपाध्यक्ष, कोषाध्यक्ष, सचिव समेत अन्य पदों पर निर्दलीय प्रत्याशी ही चुनाव लड़े। अपना दबदबा कायम रखने के लिए जहां एनएसयूआइ और एबीवीपी जैसे बड़े छात्र संगठन राज्य के हर डिग्री कॉलेज में अपने प्रत्याशी उतारते हैं, वहीं एलबीएस कॉलेज में ऐसा आज तक नहीं हो सका। एलबीएस के छात्र नेताओं की मानें तो दोनों संगठन कॉलेज में अब तक अपनी पैठ नहीं बना पाए हैं। जिससे हर बार निर्दलीय ही कॉलेज में हावी रहते हैं। हालांकि बाहर से इन दोनों संगठनों का प्रत्याशियों को समर्थन जरूर रहता है, मगर खुलकर कभी सामने नहीं आए। इधर, दोनों छात्र संगठनों का कहना है कि वे इस बार भी अपने बैनर तले किसी प्रत्याशी को छात्रसंघ चुनाव में नहीं उतारेंगे।

कोई प्रत्‍याशी नहीं लड़ेगा चुनाव 

विशाल सिंह भोजक, जिलाध्यक्ष, एनएसयूआइ ने कहा कि एलबीएस में फिलहाल संगठन की ओर से किसी प्रत्याशी को बैैनर तले चुनाव नहीं लड़ाया जाएगा। हमारा कोई प्रत्याशी वहां चुनाव लडऩे की तैयारी नहीं कर रहा है।

प्रत्‍या शी ही चुनाव लड़ने के लिए नहीं राजी होते 
अरुण राही, विभाग संगठन मंत्री, एबीवीपी ने कहा कि एलबीएस में छात्र संगठनों के बैनर तले चुनाव लडऩे के लिए प्रत्याशी राजी नहीं होते हैं। इस बार भी हम अपने बैनर तले किसी को चुनाव नहीं लड़ाएंगे।

Posted By: Skand Shukla