जागरण संवाददाता, रुद्रपुर : नोएडा निवासी एक महिला ने सितारगंज पुलिस पर गंभीर आरोप लगाए हैं। महिला नीतू चोपड़ा ने आराेप लगाया है कि उसने अपनी बहन को 20 फीसद पार्टनरशिप पर सितारगंज स्थित होटल दिया है। जिसके बाद गलत कागजात बनवाकर वह उसपर पूर्ण रुप से काबिज हो गई है। उसके होटल जाने पर मारपीट की, इसमें केस दर्ज होने के बाद भी सितारगंज पुलिस ने कार्रवाई अब तक नहीं की। आरोप है कि कोर्ट के आदेश होने के बाद भी उसे होटज जाने से पुलिस रोक रही है।

 बी-46, एससीसी 26 नोएडा फेस तीन निवासी नीतू चोपड़ा पुत्री स्व. वीएन कक्कड़ ने काशीपुर बाईपास स्थित एक होटल में पत्रकार वार्ता के दौरान बताया कि सितारगंज में एक होटल है, जिसे पिता ने वर्ष, 2011 में बनवाया था। इसकी देखरेख भाई रोहित, जयदेव व बहन रित झांब करती हैं। बताया कि बीते दिनों होटल को लेकर विवाद के बाद कोर्ट ने 80 फीसद अन्य भाई बहन को और 20 फीसद रित झांब के लिए आदेश किया। साथ ही आदेश में यह भी है कि होटल स्वामी होने के नाते इनपर प्रवेश से रोक नहीं लगाया जा सकता। आरोप है कि16 अक्टूबर को वह सितारगंज स्थित अपने होटल के कमरे में आराम कर रही थी, जिसपर उसकी बहन और बहनोई उनके बेटे ने मारपीट की। इस मामले में सितारगंज पुलिस ने आरोपितों पर केस तो दर्ज कर लिया, लेकिन अब तक गिरफ्तारी नहीं हुई। न हीं अपडेट दे रहे हैं।

कहा कि कोर्ट के आदेश में मालिकान यानी नीतू चोपड़ा को होटल में आने पर कोई रोक नहीं है। इसके बाद भी पुलिस उन्हें रोकती है। कहा कि पुलिस यह कहकर उन्हें होटल जाने से मना करती है कि विवाद होगा। आरोप लगाया कि पुलिस विवाद होने पर उन्हें अंदर करने की धमकी भी दे रहे हैं। एेसे में मुख्य आरोपितों पर कार्रवाई के बजाय पीड़ितों पर दबाव बनाया जा रहा है। 

सितारगंज के थाना प्रभारी प्रकाश सिंह दानू ने बताया कि होटल के स्वामित्व को लेकर विवाद लंबे समय से चल रहा है। मारपीट मामले में केस दर्ज हो चुका है। इसके अलवा मामले की जांच चल रही है। 

Edited By: Prashant Mishra