हल्द्वानी, जेएनएन : नैनीताल जिले के बेतालघाट व पिथौरागढ़ के गणाईगंगोली समेत राज्य के पांच डिग्री कॉलेज जल्द स्कूलों की कक्षाओं और छात्रावासों से बाहर निकलेंगे। इन कॉलेजों को अपना खुद का भवन मिलेगा। यही नहीं, पिथौरागढ़, रामनगर, भिकियासैंण, कपकोट के डिग्री कॉलेजों का भी कायाकल्प होगा। दरअसल, उच्च शिक्षा निदेशालय के प्रस्ताव को शासन की वित्तीय स्वीकृति मिल गई है।

उत्तराखंड में उच्च शिक्षा विभाग के अधीन 105 डिग्री कॉलेज संचालित होते हैं। जिनमें से 69 डिग्री कॉलेजों के पास अपना भवन है। इसके अलावा 18 में भवन निर्माण कार्य चल रहा है। आठ में वन भूमि हस्तांतरण, रजिस्ट्री आदि की कार्यवाही गतिमान है। वहीं, दस कॉलेज ऐसे हैं जो वर्तमान में सरकारी इंटर कॉलेजों के खाली कमरों या छात्रावास में संचालित हो रहे हैं। विभाग की ओर से इन कॉलेजों के भवन के लिए पूर्व में शासन को प्रस्ताव भेजा गया था। जिसमें से पांच को शासन ने वित्तीय स्वीकृति प्रदान की है। इनमें सतपुली, गणाईगंगोली, नंदासैंण, पाबौ पौड़ी, बेतालघाट डिग्री कॉलेज शामिल हैं। अब शासन द्वारा एक कार्यदायी संस्था नामित की जाएगी जो कि निर्माण कार्य की डीपीआर तैयार करेगी। जिसे शासन को भेजा जाएगा। इसके बाद शासन की ओर से बजट जारी किया जाएगा।

गैरसैंण को खेल मैदान, नागनाथ पोखरी को बहुउद्देशीय भवन

उच्च शिक्षा निदेशालय से मिली जानकारी के अनुसार गैरसैंण डिग्री कॉलेज में खेल मैदान व नागनाथ पोखरी डिग्री कॉलेज में बहुउद्देशीय भवन के प्रस्ताव को भी वित्तीय स्वीकृति मिली है। इसके अलावा रामनगर डिग्री कॉलेज के जीर्णोद्धार व पिथौरागढ़, कोटद्वार, भिकियासैंण, बेरीनाग, कपकोट डिग्री कॉलेज के पुनर्निर्माण को भी मंजूरी मिली है।

इन कॉलेजों को अब भी जमीन का इंतजार

मालधनचौड़, लमगड़ा, पोखरी पट्टी क्वीली, मासी, भतरौंजखान, पोखड़ा, पावकी देवी, शीतलाखेत, पाटी, नई टिहरी। वहीं डॉ. एचएस नयाल, सहायक निदेशक, उच्च शिक्षा विभाग ने बताया कि पांच डिग्र्री कॉलेजों के भवन के लिए शासन से वित्तीय स्वीकृति मिल गई है। इसके अलावा कई अन्य कॉलेजों में खेल मैदान, बहुउद्देशीय भवन आदि कार्यों की भी स्वीकृति मिली है। आगे की कार्यवाही जल्द शुरू की जाएगी।

यह भी पढ़ें : काेरोना का असर मुनस्‍यारी के पर्यटन कारोबार पर भी पड़ा, पर्यटकों की संख्‍या कम हुई

यह भी पढें : मध्‍य प्रदेश में डैमेज कंट्रोल करने के लिए कांग्रेस ने हरदा को मैदान में उतारा

 

Posted By: Skand Shukla

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस