पिथौरागढ़, जेएनएन : चीन सीमा को जोडऩे वाला एकमात्र मुनस्यारी-मिलम पैदल मार्ग स्यूनी के पास दस मीटर मार्ग बह गया है। इससे चीन सीमा पर स्थित 14 गांव अलग-थलग पड़ गए हैं। वहीं टनकपुर-तवाघाट हाईवे पर पिथौरागढ़ से धारचूला के मध्य गुड़ौली के पास मलबा आने से चार घंटे यातायात बंद रहा। 

सोमवार की रात्रि जिले में मध्यम बारिश हुई। सर्वाधिक 24 एमएम वर्षा बेरीनाग में हुई। पिथौरागढ़ में 12 एमएम, डीडीहाट में दस, धारचूला में 20, मुनस्यारी में 17 एमएम वर्षा हुई। उच्च मध्य हिमालय में बारिश से चीन सीमा को जोडऩे वाला एकमात्र पैदल मिलम-मुनस्यारी-दुंग मार्ग स्यूनी के पास दस मीटर बह गया है। जिसके चलते मल्ला जोहार के 14 गांव अलग-थलग पड़ चुके हैं। मुनस्यारी से जोहार को सामान ले जा रहे घोड़े, खच्चर और मजदूर फंसे हैं। लोनिवि के अवर अभियंता महेश कुमार के निर्देशन पर लोनिवि गैंग मजदूर वैकल्पिक मार्ग बनाने में जुटे हैं। वहीं हल्की बारिश में ही बीआरओ संचालित हाईवे पर गुड़ौली के पास मलबा आने से मार्ग चार घंटे बंद रहा। इस मार्ग पर सुबह चार बजे से यातायात प्रारंभ हो जाता है। मलबा हटाए जाने पर वाहनों का संचालन हुआ। 

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Skand Shukla

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप