जागरण संवाददाता, हल्द्वानी : बरेली रोड स्थित शिशु मंदिर से ओके वहोटल तक निकली तिरंगा संकल्प यात्रा के दौरान भीड़ देख आप नेताओं के चेहरे खुश नजर आए। पार्टी के राष्ट्रीय संयोजक व दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल की मौजूदगी में हुए इस कार्यक्रम में हरिद्वार व देहरादून तक से लोग पहुंचे थे, लेकिन इस हुजूम में ऊधमसिंह नगर से पहुंचे कार्यकर्ताओं की संख्या ज्यादा थी। एलआइयू कर्मी भी भीड़ पर नजर रख अनुमान लगाने में जुटे थे।

चार सितंबर को हल्द्वानी में कांग्रेस ने परिवर्तन यात्रा निकाली थी। जिसके बाद रामलीला मैदान में दिग्गजों ने प्रदेश सरकार पर खूब निशाना साधा। पूर्व सीएम हरीश रावत ने इशारों में आप को भी कठघरे में खड़ा किया था। वहीं, 15 दिन बाद आम आदमी पार्टी ने राष्ट्रीय संयोजक अरविंद केजरीवाल के नेतृत्व में उसी तर्ज पर रोड शो निकाला। मुख्य मार्ग व बाजार के बीच से गुजरते हुए केजरीवाल लोगों का अभिवादन स्वीकारते दिखे।

वहीं, टिकट के दावेदार अपने-अपने समर्थन में लोगों को लेकर पहुंचे थे। कार्यकर्ताओं ने हाथों में उनके नाम के बैनर भी थाम रखे थे। मुख्य मार्ग से होते हुए कार्यकर्ता रामलीला मैदान में पहुंच गए। यहां अधिकांश लोगों को उम्मीद थी कि केजरीवाल भी आएंगे। हालांकि, कार्यक्रम तय नहीं होने के कारण वह ओके होटल से सर्किट हाउस को रवाना हो गए।

सर्किट हाउस में घुसने नहीं दिया

दिल्ली के सीएम पंतनगर से सड़क मार्ग के जरिये सीधे सर्किट हाउस पहुंचे थे। यहां हरिद्वार और जसपुर तक से कार्यकर्ता उनसे मिलने पहुंचे, लेकिन पुलिस ने उन्हें रोक दिया। पार्टी की तरफ से कुछ चुनिंदा नामों को ही प्रवेश की अनुमति मिली। इस पर जसपुर से आए मिल्खा सिंह व हरिद्वार से पहुंचे राकेश यादव, गीता देवी आदि ने नाराजगी भी जताई। राकेश ने कहा कि पार्टी के लिए संघर्ष करने की वजह से उन्हें जेल तक जाना पड़ा। बड़े नेताओं ने उन्हें आश्वासन दिया था कि राष्ट्रीय संयोजक से मुलाकात होगी, मगर अब जाने नहीं दे रहे। हालांकि, केजरीवाल का काफिला अंदर घुसते ही धूप में बाहर खड़े कार्यकर्ता भी झटके से अंदर घुस गए।

कवरेज से पहले गुस्सा

प्रेसवार्ता से पहले दिल्ली से आए इलेक्ट्रॉनिक चैनलों के लोगों ने मंच के सामने कैमरे फिट कर दिए। और खुद भी खड़े हो गए। ऐसे में हल्द्वानी के मीडियाकर्मियों के लिए कवरेज करना मुश्किल हो गया। समझाने के बावजूद बात नहीं बनी तो हल्द्वानी के पत्रकारों ने खड़े होकर अपनी नाराजगी जाहिर की। हंगामा बढऩे पर अलग से व्यवस्था बनाई गई। सीएम केजरीवाल ने भी खेद जताया।

Edited By: Skand Shukla