संवाद सहयोगी, खटीमा : प्रदेश के सैनिक कल्याण मंत्री गणेश जोशी ने बताया कि देहरादून में बनाए जा रहे सैन्य धाम के लिए राज्य भर के शहीद सैनिकों के घरों से मिट्टïी एकत्र कर भेजी जाएगी। सरकार ने 24 अक्टूबर से कुमाऊं में शहीद सम्मान यात्रा शुरू करने का निर्णय लिया है। यात्रा 27 अक्टूबर को देहरादून में समाप्त होगी। सैन्य धाम में लाइट एंड साउंड शो के माध्यम से शहीदों की वीरगाथाएं सुनाई एवं प्रदर्शित की जाएंगी। 

यात्रा की तैयारियों को लेकर गुरुवार को लोहियाहेड रोड स्थित वैंक्वेट हॉल में आयोजित कार्यक्रम में पहुंचे मंत्री का भव्य स्वागत किया गया। मंत्री ने पूर्व सैनिकों को संबोधित करते हुए कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की परिकल्पना है कि जिस तरह से उत्तराखंड में चारधाम यात्रा के लिए लोग आते है, ठीक उसी तर्ज पर राज्य के पांचवे धाम सैन्य धाम के दर्शन के लिए लोग देहरादून पहुंचें। सेना के दो शहीद बाबा जसवंत सिंह व बाबा हरभजन सिंह के मंदिर भी सैन्य धाम में बनेंगे। संग्रहालय भी बनाया जाएगा। 

कुमाऊं में शहीद सम्मान यात्रा की शुरुआत 24 अक्टूबर को रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह पिथौरागढ़ जनपद से  करेंगे। जो 27 अक्टूबर को देहरादून में पूरी होगी। जनपद ऊधम सिंह नगर के 56 शहीद परिवारों के घरों से मिट्टïी एकत्र होगी। कार्यक्रम की अगुवाई गौरव सेनानी संगठन के अध्यक्ष कै. गंभीर सिंह धामी ने की। इस मौके पर मंडी अध्यक्ष नंदन सिंह खड़ायत, कमलेंद्र सेमवाल, जिलाधिकारी रंजना राजगुरु, सीडीओ आशीष भटगाई, एसडीएम निर्मला बिष्टï, तहसीलदार युसूफ अली, बीडीओ दिनेश गुुरुरानी, भाजपा जिला महामंत्री हिमांशु बिष्टï, नवीन कन्याल, सतीश गोयल, दिनेश अग्रवाल, मोहनी पोखरिया, जानकी पांडे, सावित्री कन्याल, नीता सक्सेना, धाना भंडारी, लक्ष्मण सिंह चुफाल, मिलाप सिंह, कृष्ण चंद्र, किशन चंद, प्रेम चंद, रविंद्र चंद, पूरन ज्याला, रंजीत सेठ, नारायण दत्त, ठाकुर भगवान सिंह, गोपाल सिंह, कपिल रस्तोगी, बहादुर सिंह, जगत सिंह, उमेद सिंह आदि मौजूद थे। 

Edited By: Prashant Mishra