रामनगर, जागरण संवाददाता : एक महिला ने शनिवार की रात विषाक्त पदार्थ खा लिया। इसका पता चलते ही ससुराल पक्ष के लोग उसे उपचार के लिए रामनगर के सरकारी अस्पताल लाए थे। जहां उसकी हालत गंभीर होने पर चिकित्सकों ने प्राथमिक उपचार के बाद काशीपुर हायर सेंटर रेफर कर दिया था, इसी बीच रास्ते में उसकी मौत हो गई। मृतका के परिजनों ने ससुरालियों पर दहेज ना देने पर उनकी पुत्री की हत्या का आरोप लगाया है।

उधमसिंह नगर जनपद के जसपुर क्षेत्र की सना परवीन पुत्री फुरकान अहमद वर्ष का चार वर्ष पूर्व दिसंबर 2018 मे ग्राम उदयपुरी चोपड़ा निवासी इंतखाब आलम के साथ प्रेम विवाह हुआ था। सना के परिजनों का आरोप है कि उसके ससुराल वाले दहेज के लिए उसे आए दिन प्रताडि़त करने के साथ ही उसके साथ मारपीट करते थे।

आरोप है कि ससुराल पक्ष के लोग दहेज में गाड़ी और पैसे की मांग करते थे। 17 जून को ससुराल पक्ष के लोगों द्वारा मांगे पूरी ना होने पर सना को मारपीट करके घर से बाहर निकाल दिया। कुछ दिनों बाद दोनों पक्षों की सहमति से सना अपनी ससुराल चली गई । मृतका की मां शमा परवीन ने आरोप लगाया कि मांग पूरी ना होने पर ससुराल पक्ष के लोगों ने उनकी पुत्री को जहर देकर उसकी हत्या कर दी है।

रविवार को तहसीलदार बीसी पंत की मौजूदगी में मृतका के शव का पंचायत नामा बनने के बाद पोस्टमार्टम कराने की कार्रवाई करने के बाद। शव परिजनों को सौंप दिया। मृतका की दो साल की एक पुत्री है। पीरूमदारा चौकी इंचार्ज राजेश जोशी ने बताया कि मृतका सना के ससुराल पक्ष के तीन लोगों को पूछताछ के लिए बुलाया गया है। परिजनों की ओर से तहरीर नहीं दी गई है। फिलहाल मामले की जांच की जा रही है।

Edited By: Skand Shukla