जागरण संवाददाता, चम्पावत : बेलखेत में शादी से एक दिन पूर्व दुल्हन के कोरोना संक्रमित पाए जाने के बाद शनिवार को सादे समारोह में चंद लोगों के बीच पीपीई किट पहनकर शादी संपन्न कराई गई। स्वास्थ्य व राजस्व विभाग की मौजूदगी में हुई शादी के बाद दुल्हन व उसके परिवार को 17 दिन क्वारंटीन में रहने का नोटिस दिया गया है। 17 दिन बाद सैंपलिंग के बाद रिपोर्ट निगेटिव आने के बाद दुल्हन की विदाई की जाएगी। शादी के बाद बारात वापस चली गई।

बेलखेत निवासी सीमा बोहरा पुत्री दीवान सिंह बोहरा की शादी चकरपुर खटीमा यूएस नगर निवासी पंकज अधिकारी पुत्र जोत सिंह से तय हुई। शनिवारी यानि आठ मई को शादी की तिथि तय हुई। इससे बेलखेत में कोरोना संक्रमण बढऩे पर स्वास्थ्य विभाग ने पांच दिन पूर्व क्षेत्र में सैंपलिंग की गई। गुरुवार को आई रिपोर्ट में 32 लोग कोरोना संक्रमित मिले। संक्रमितों में सीमा बोहरा (दुल्हन) भी शामिल थी। सीमा के संक्रमित होने पर परिजन परेशान हो उठे। शादी की सूचना प्रशासन को मिली तो उन्होंने शादी में परिजनों के अलावा अन्य लोगों के आने पर रोक लगाते हुए केवल स्वजनों की मौजूदगी में पीपीई किट पहनकर शादी कराने का निर्णय लिया गया।

शनिवार को दूल्हा पंकज अपने भाई सुनील, मनोज, पंडित जगदीश कलोनी व ड्राइवर नरेश के साथ जगबुढ़ा पुल पर कोरोना जांच कराने के बाद करीब साढ़े 12 बजे बेलखेत पहुंचे। नदी पार एकांत क्षेत्र में शादी की तैयारियां की गई। शादी में पहुंचे डा. मनीष बिष्ट, डा. गिरेंद्र चौहान, पटवारी अमित सिपाल ने दूल्हा पक्ष समेत दूल्हन, भाई मुकेश व पंकज, पिता दीवान सिंह को पीपीई किट पहनाई। इसके बाद पंडित जगदीश ने करीब दो घंटे में शादी की रस्में पूरी करी। इस दौरान दूल्हे समेत अन्य स्वजनों ने वहां कुछ भी खाया पिया नहीं।

दूल्हे पक्ष के लोग अपना खाना पानी साथ लाए थे। करीब आधा घंटा और रुकने के बाद करीब चार बजे बारात वहां से विदा हो गई। पटवारी अमित ने बताया कि दुल्हन व उसके स्वजनों को 17 दिन होम आइसोलेशन में रहने का नोटिस दिया है। इस दौरान उनकी एक बार और सैंपलिंग की जाएगी। रिपोर्ट निगेटिव आने के बाद दुल्हन की विदाई की जाएगी। शादी समारोह में करीब दस लोग मौजूद रहे।

बेलखेत में हुई 300 लोगों की हुई सैंपलिंग

कोरोना सैंपलिंग नोडल डा. गिरेंद्र चौहान ने बताया कि शादी संपन्न कराने के बाद बेलखेत क्षेत्र में लोगों की सैंपलिंग की गई। सैंपलिंग को लेकर लोग काफी उत्साहित थे। लोगों ने स्वयं आकर वहां सैंपलिंग कराई। करीब 300 लोगों की सैंपलिंग हुई। दो दिन पूर्व क्षेत्र में 32 लोगों की कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव आई थी। जिसके बाद क्षेत्र को कंटेनमेंट जोन बनाया जा रहा है।

यह भी पढ़ें : विवाह से ठीक पहले दुल्हन निकली कोरोना पॉजिटिव, SDM से परमिशन लेकर कुछ इस तरह रचाई शादी

Uttarakhand Flood Disaster: चमोली हादसे से संबंधित सभी सामग्री पढ़ने के लिए क्लिक करें

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप