अभय कुमार पांडेय, काशीपुर: Kashipur Suicide Case जिस प्यार के खातिर कुसुमलता ने अपनी खुशहाल जिंदगी छोड़कर अपने प्रेमी के साथ आई थी। वहीं पर बच्चों संग आत्महत्या करना पड़ा। यह बड़ा सवाल काशीपुर के बच्चों संग मां के जहर खाने के मामले उठ रहा है।

जिस प्रकार से संदिग्ध परिस्थितियों में यह पूरा घटनाक्रम घटा है वह अपने आप में कई सवाल खड़े कर रहा है। मामले में पोस्टमार्टम के बाद बिसरा सैंपल फॉरेसिंक लैब भेज दिया गया है जिसमें पता चल सकेगा कि आखिर कौन सा जहर का सेवन किया गया है।

पति छोड़कर प्रेमी के साथ रह रही थी

तकरीबन दो साल पहले तक कुसुमलता के पास अपनी खुशहाल गृहस्थी थी जिसमें वह अपने दो बच्चों व अपने पति के साथ रहकर अपनी जिंदगी व्यतीत कर रही थी। उसके घर वालों को भी सब्र था कि उसकी बेटी सही हाथों में हैं और उसका पति उसकी बेटी और नातियों का पूरा ध्यान रखता था।

लेकिन राजा नामक युवक के प्यार के बाद वह बिल्कुल बदल गई और सबकुछ छोड़कर वह राजा के घर आ गई।

ठीक नहीं था सबकुछ

एक साल के अंदर ही रिश्तों में ऐसी क्या कड़वाहट आ गई जिससे उसे अपने बच्चों सहित आत्महत्या को जहर गटकना पड़ा यह सवाल सभी के जेहन में चल रही है। कहीं न कहीं परिवार में सबकुछ ठीक नहीं था ऐसा ग्रामीणों का भी दबी जुबान में कहना है।

प्रेमी का विवाद से इन्कार

पूरे घटनाक्रम के बाद मामले में महिला के प्रेमी का कुसुमलता के साथ किसी विवाद से इंकार किया जा रहा है। उसका कहना है कि उससे किसी प्रकार की अनबन नहीं थी।

वहीं मामले में अस्पताल और पोस्टमार्टम पर लड़के के घर से किसी के न पहुंचने पर भी सवाल खड़े हो रहे हैं। जबकि उसके पांच भाई ओर उसके बड़े परिवार से एक भी सदस्य तक मामले में लड़की के परिजनों को संतावना देने नहीं पहुंचे।

घर से क्यों बरामद नहीं हो सका जहर 

मामले में सूचना के बाद पहुंची कुंडा पुलिस का कहना है कि मामले में घर से किसी प्रकार का जहर बरामद नहीं हुआ है। जबकि जिस प्रकार से अस्पताल में भर्ती कराया गया वहा चिकित्सकों ने जहर गटकने काे लेकर महिला ओर उसके दोनों बच्चों का इलाज किया।

ऐसे में सवाल उठता है कि महिला ने आत्महत्या करने के लिए कौन सा जहर इस्तेमाल किया। मामले में बिसरा रिपोर्ट आने के बाद ही मामले में राज खुल सकेगा।

राजा से जन्मे बच्चे को नहीं दिया जहर

मामले में पहले शादी से जन्में दो बच्चों के साथ कुसुमलता के जहर गटकने की बात कही जा रही है जबकि उसके साथ ही तकरीबन एक माह का बेटा और उसके साथ था जिसके पिता राजा था और उसकी साथ वह पिछले एक साल से उसके घर में रह रही थी।

मामले में एक माह के बच्चा कैसे जहर से बच गया यह सवाल भी उठ रहा है। ऐसे में लड़की के परिजनों का सवाल उठ रहा है कि आखिर पहले शादी से जन्मे बच्चे को ही अपने साथ क्यों मारेगी उसे मारना होता तो वह तीनों बच्चों को जहर देती।

ऐसे में सवाल उठ रहे हैं कि कहीं किसी साजिश के तहत तो इन तीनों को जहर नहीं दिया गया।

यह भी पढ़ें : काशीपुर में मां ने दो बच्चों सहित खाया जहर, मां-बेटे की मौत, बेटी की हालत गंभीर

Edited By: Prashant Mishra