जागरण संवाददाता, हल्द्वानी : उत्तरांचल परिवहन मजदूर संघ ने रोडवेज की बदतर हालत के लिए परिवहन निगम प्रबंधन को जिम्मेदार ठहराया है। संघ ने निगम की हालत में सुधार के लिए 1500 बसें बेड़े में शामिल करने की मांग की है।

मजदूर संघ के पदाधिकारियों की बैठक में कहा गया कि अफसरों के कुप्रबंधन से निगम लगातार घाटे में जा रहा है। निगम की उन्नति के लिए अब तक कोई ठोस नीति नहीं बनी है। बसें बढ़ाने के साथ ही चालक-परिचालकों की नियमित भर्ती की मांग उठाई गई। संघ के प्रदेश अध्यक्ष सहदेव सिंह ने कहा कि वर्तमान का प्रबंधन पूरी तरह से निगम को चलाने में असफल साबित हो चुका है। कर्मचारियों को तीन-तीन महीने तक वेतन का भुगतान नहीं किया जा रहा है। सेवानिवृत्त कर्मचारियों के देयक वर्ष 2013 से लंबित हैं। विशेष श्रेणी चालक-परिचालकों व कार्यशाला कर्मचारियों को न्यूनतम वेतन न देकर उनका आर्थिक शोषण किया जा रहा है। इस दौरान विनोद कुमार, गौरव, वीरेंद्र बिष्ट, कैलाश चंद्र भट्ट, बाल कृष्ण शर्मा, केएन दानी, महेश राणा, अवतार सिंह, आशीष शर्मा, लीला बोरा, निशा सक्सेना आदि मौजूद रहे। मजदूर संघ की मांगें

- चालक-परिचालकों एवं कार्यशाला कार्मिकों को मिले वर्दी

- संविदा वाह्य स्रोत के चालक-परिचालकों व कार्यशाला कार्मिकों को न्यूनतम 21 हजार रुपये मिले।

- कार्यशालाओं में वाहनों के टायर, ट्यूब व पा‌र्ट्स उपलब्ध कराए जाएं।

- कर्मचारियों को हर माह सात तारीख तक वेतन का भुगतान किया जाए। सलड़ी मार्ग पर आया मलबा, यातायात बाधित

भीमताल : हल्द्वानी-भीमताल मोटर मार्ग पर सलड़ी के निकट मलबा गिर जाने के कारण मार्ग बाधित हो गया। जिसको बाद में लोक निर्माण विभाग के द्वारा जेसीबी लगाकर खोला गया। इस बीच मार्ग के दोनों तरफ वाहनों की लंबी कतार लग गई। सवेरे दस बजे अचानक पहाड़ी के दरक जाने के कारण मार्ग बाधित हो गया। इधर विभाग की पहले से ही मोटर मार्ग में तैनात जेसीबी ने मलवा गिरने के बाद से मलवा हटाना प्रारंभ कर दिया था। आधे घंटे के बाद मार्ग खुल सका। इधर कनिष्ठ सहायक अभियंता के के पाठक ने बताया कि मोटर मार्ग में विभाग के द्वारा जेसीबी लगाई गई है। मलवा गिरते ही मलबे को मार्ग से हटा दिया जा रहा है।

Posted By: Jagran