जागरण संवाददाता, हल्द्वानी : बारूद से मछली मारने गए अधेड़ के हाथ में ही विस्फोट हो गया। जिससे कलाई के नीचे हाथ के दोनों पंजे हवा में बिखर गए। गंभीर हालत में उसे निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

काठगोदाम थाना क्षेत्र के गंगानगर निवासी 53 वर्षीय रहमत अली पुत्र महफूज अली रेत भरान का कार्य करता है। घर पर पत्नी व छह बच्चे हैं। गुरुवार को रहमत अपने दोस्तों के साथ अमृतपुर क्षेत्र में गौला नदी में मछलियां पकडऩे गया था। दोस्तों के साथ वह बारूद लेकर मौके पर पहुंचा। बारूद में आग लगाने के बाद असावधानी के चलते नदी में फेंक नहीं सका।

जिससे बारूद उसके हाथ में फट गया। विस्फोट होते ही दोनों हाथ के चीथड़े उड़ गए। साथ में मौजूद दोस्तों ने उसे निजी अस्पताल में भर्ती कराया। जहां उसकी हालत गंभीर बनी हुई है। रहमत के भाई हसमत के अनुसार चिकित्सकों ने सर्जरी करने को कहा है। हाथ के अतिरिक्त सीने, चेहरे व अन्य अंगों में भी गंभीर जख्म हो गया है। काठगोदाम थानाध्यक्ष विमल मिश्र ने बताया कि घायल का इलाज किया जा रहा है।

सड़क बाधित होने से इलाज में हुई देरी

बारूद फटने से घायल रहमत को समय पर अस्पताल नहीं पहुंचाया जा सका। सड़क बाधित होने के चलते इलाज में देरी हुई। हल्द्वानी-भीमताल रोड पर निर्माण कार्य के चलते सड़क बंद थी। ऐसे में निर्माण कार्य में लगे लोगों से निवेदन करने के बाद सड़क खुलवाई जा सकी। इसके बाद काफी देरी से उसे अस्पताल में दाखिल कराया गया। जहां उसकी हालत गंभीर है।

Edited By: Skand Shukla