हल्द्वानी, जेएनएन : नैनीताल जिले में पिछले लोकसभा चुनाव की तुलना में मतदान में मामूली सुधार हुआ है। जिले में पिछली बार जहां 62.67 प्रतिशत मतदान हुआ था। इस बार 63.81 प्रतिशत वोटिंग हुई है। दो चुनाव के बीच मतप्रतिशत में 1.14 प्रतिशत का अंतर है।

2014 के लोकसभा चुनाव में लालकुआं विधानसभा में सर्वाधिक 68.62 प्रतिशत मतदान हुआ था। इस बार लालकुआं में 69.43 प्रतिशत मतदान हुआ। कालाढूंगी विधानसभा में पिछली बार जहां 66.61 फीसद वोटिंग हुई थी, इस बार थोड़ा सुधार के साथ 66.85 प्रतिशत लोगों ने मताधिकार का प्रयोग किया। रामनगर विधानसभा सीट पर 2014 में 66.32 फीसद मतदान हुआ था। इस बार रामनगर में 66.85 फीसद वोट पड़े हैं। हल्द्वानी विधानसभा में पिछली बार 62.84 फीसद वोटिंग हुई थी, जबकि इस बार 62.42 प्रतिशत वोटिंग हुई है। पिछली बार भीमताल में 56.19 फीसद वोटिंग हुई थी। इस बार 60.31 प्रतिशत मतदान हुआ है।

नैनीताल विधानसभा में पिछली बार सबसे कम 55.47 प्रतिशत मतदान हुआ था। जबकि इस बार 55.28 प्रतिशत लोगों ने मताधिकार का प्रयोग किया। निर्वाचन आयोग की ओर से मतदाता जागरुकता के कार्यक्रम करने के बाद भी खास सुधार नहीं होना प्रत्याशियों की चिंता बढ़ा सकता है।