जागरण संवाददाता, नानकमत्ता (ऊधमसिंह नगर) : सरोजा जंगल में लकड़ी बीनने गई महिला पर तेंदुए ने हमला कर दिया। इससे उसकी मौत हो गई। सूचना पर वन कर्मचारियों और पुलिस के साथ ही विधायक डा. प्रेम सिंह राणा भी मौके पर पहुंचे और उन्होंने घटना की जानकारी ली।

ग्राम ध्यानपुर निवासी 28 वर्षीय आरती चंद्र पत्नी राम चंद्र शनिवार शाम चार बजे के आसपास कुछ महिलाओं के साथ सरोजा जंगल में लकड़ी बीनने गई थी। इस दौरान झाडिय़ों में छिपे तेंदुए ने आरती पर हमला कर दिया। यह देख साथी महिलाओं ने शोर मचाया तो तेंदुए की ओर उनके साथ आया हुआ कुत्ता दौड़ पड़ा। इस पर तेंदुए ने महिला को छोड़ कुत्ते को पकड़ लिया और भाग गया। शोर शराबा होने के बाद आसपास के ग्रामीण भी मौके पर पहुंच गए, लेकिन तब तक घायल आरती की मौत हो चुकी थी। बाद में वन विभाग के अधिकारी और कर्मचारियों के साथ ही पुलिस भी पहुंच गई। इस दौरान महिला के गर्दन पर तेंदुए के हमले के निशान पाए गए। इसका पता चलते ही मृतक के स्वजन भी पहुंच गए, जहां उसकी लाश देखकर स्वजनों में कोहराम मच गया।

रनसाली रेंज के रेंजर प्रदीप धोलाखंडी ने बताया कि तेंदुए के हमले से प्रथम ²ष्टया महिला की मौत हुई है। बाद में घटना की सूचना मिलते ही क्षेत्र के विधायक प्रेम ङ्क्षसह राणा भी मौके पर पहुंच गए और घटना पर दुख जताते हुए वन विभाग के अधिकारियों से तेंदुए को जल्द ङ्क्षपजरा लगाकर पकडऩे को कहा। विधायक ने मृतका के स्वजनों को आश्वासन दिया कि वन विभाग से उन्हें उचित मुआवजा दिलाया जाएगा। इससे पहले दो माह पूर्व सरोजा के जंगल में लकड़ी बीनने गई मगरसड़ा निवासी 55 वर्षीय समित्रा देवी पत्नी रूप ङ्क्षसह राणा को भी तेंदुए ने अपना निवाला बना लिया था।

Edited By: Prashant Mishra