हल्द्वानी, जेएनएन : घास लेने गई महिला की जान लेने वाला गुलदार वन विभाग के कैमरा ट्रेप में कैद नहीं हो सका। जंगल के अलग-अलग रास्तों पर चार कैमरा ट्रेप लगाए गए थे। मगर उसकी कोई लोकशन नहीं मिली। गुलदार को कैद करने के लिए लगाए दो पिंजरों में अब पालतू कुत्ते बांधे जाएंगे।

रानीबाग चौहानपाटा ग्रामसभा के सोनकोट क्षेत्र निवासी भगवती देवी सोमवार सुबह अपनी देवरानी हीरादेवी के साथ घास काटने जा रही थी। इस बीच मंदिर से पहले गुलदार ने भगवती पर हमला बोल दिया। शोर मचाने पर उसका बेटा नवीन व अन्य लोग भी मौके पर पहुंचे। जिसके बाद गुलदार महिला के शव को छोड़ जंगल की तरफ चला गया।

 

घटना के बाद फतेहपुर रेंज की टीम ने कैमरा लगाने के साथ पिंजरा भी लगाया। बुधवार दोपहर रेंजर अमित ग्वासीकोटी टीम के साथ मौके पर पहुंचे और कैमरा को चेक किया, लेकिन गुलदार का मूवमेंट उसमें कैद नहीं हो सका। रेंजर अमित के मुताबिक जंगल क्षेत्र में दोबारा गश्त की गई।

 

मगर कोई सुराग नहीं लगा। वन विभाग के मुताबिक सोनकोट का जंगल गुलदार की मूवमेंट के लिए जाना जाता है। पूरा प्रयास है कि हमलावर गुलदार को पकड़ लिया जाएगा। वहीं, घटना के बाद से स्थानीय ग्रामीण लगातार दहशत में है।

यह भी पढें 

जंगल में घास काटने गई मह‍िला को बेटे के सामने तेंदुए ने हमलाकर मार डाला 

शादी का झांसा देकर महिला के साथ दुष्कर्म करने का आरोपित भाजपा नेता गिरफ्तार

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस