पथौरागढ़, जेएनएन : अभी तक दूरदराज के ग्रामीण क्षेत्रों से ही जंगली जानवरों के आतंक की समस्या सामने आ रही थी, मगर अब जिला मुख्यालय से लगे गांवों में भी जंगली जानवरों की समस्या आम होने लगी है। बीती रात्रि ऐंचोली से मसपाटी की ओर जा रहे एक युवक पर गुलदार ने हमला कर दिया। गुलदार के इस हमले से युवक के चेहरे, हाथ, पेट, पीठ में चोट पहुंची है। युवक का स्थानीय जिला चिकित्सालय में उपचार चल रहा है।
मसपाटी गांव निवासी 20 वर्षीय अमित महर, पुत्र नवीन महर आगामी सितंबर माह में होने वाली सेना भर्ती की तैयारी कर रहा है। वह हर रोज ऐंचोली में सड़क किनारे दौड़ की प्रैक्टिस करता है। बीती रात्रि करीब आठ बजे वह दौड़ की प्रैक्टिस करने के बाद अपने गांव मसपाटी को वापस लौट रहा था। इस दौरान रास्ते पर पहले से ही घात लगाकर बैठे गुलदार ने अमित पर सामने से हमला कर दिया। अमित ने किसी तरह से हिम्मत जुटाते हुए गुलदार पर पत्थर से वार किए। जिससे गुलदार वहां से भाग गया। इस बीच अमित जैसे ही खुद को संभाल पाता गुलदार ने अचानक पीछे से उस पर फिर से हमला कर दिया। अमित की चीख-पुकार सुनकर एक वाहन सवार व अन्य ग्रामीणों की नजर इस पर पड़ी। ग्रामीणों को अपनी ओर आता देख गुलदार घबराकर वहां से भाग गया। ग्रामीणों ने तत्काल अमित को जिला चिकित्सालय पहुंचाया। जहां चिकित्सकों ने युवक की हालत अब सामान्य बताई है। 

क्षेत्र में दहशत, पिजड़ा लगाने की मांग
इधर, जिला मुख्यालय से लगे ग्रामीण क्षेत्रों में आए दिन हो रही इस तरह की घटनाओं से लोगों में दहशत व्याप्त है। यूथ कांग्रेस जिलाध्यक्ष ऋषेंद्र महर ने कहा कि मसपाटी क्षेत्र में गुलदार लंबे समय से सक्रिय है। क्षेत्र में दिनदहाड़े गुलदार नजर आ रहा है। जिस कारण ग्रामीण भयभीत हैं। गुलदार की यह सक्रियता कभी भी बड़े हादसे का कारण बन सकती है। उन्होंने वन विभाग से क्षेत्र में पिंजड़ा लगाकर गुलदार को पकडऩे की मांग की है।

Posted By: Skand Shukla

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस