गरमपानी, (नैनीताल), जेएनएन : लगातार हो रही बारिश से अल्मोड़ा-हल्द्वानी व रानीखेत खैरना स्टेट हाईवे पर जोखिम बढ़ गया है। जगह-जगह जर्जर हो चुकी पहाड़ी दरकने से हाईवे पर पत्थरों की बरसात भी शुरू हो गई है। वहीं निकास नाली न होने के कारण रोड तलैया में तब्दील हो गई है। गुरुवार से रातभर हो रही बारिश से अतिसंवेदनशील लोहाली, भोर्या बैंड, नावली, पाडली, जौरासी आदि क्षेत्रों में पहाड़ी से गिर रहे पत्थर हाईवे तक पहुंचने लगे हैं। कई वाहन पत्थरों की चपेट में आने से बाल बाल बच गए। लगातार गिर रहे पत्थरों के बीच वाहन चालक जान जोखिम में डाल आवाजाही कर रहे हैं।  उधर, रानीखेत खैरना स्टेट हाईवे व भुजान रिचि बिल्लेख, भुजान वर्धा आदि मोटर मार्गो पर भी जगह-जगह पत्थर गिरने से खतरा बढ़ गया है। मोटर मार्गो पर गड्ढों में जलभराव होने से वाहन चालकों को आवाजाही में दिक्कतों का सामना भी करना पड़ रहा है। वाहन चालकों ने शीघ्र निकास नाली निर्माण कर समस्या से निजात दिलाने की मांग की है।

पत्थर की चपेट से स्कूटी  सवार घायल, हायर सेंटर रेफर

गरमपानी : अल्मोड़ा-हल्द्वानी हाईवे पर पाडली के समीप पहाड़ी से गिरे पत्थर की चपेट में आने से स्कूटी सवार गंभीर रूप से घायल हो गया। प्राथमिक उपचार के बाद उसे हायर सेंटर रेफर कर दिया गया है। छड़ा गांव निवासी पूरन सिंह शुक्रवार सुबह हल्द्वानी से स्कूटी यूके 04जेएड 1831 से अपने गांव की ओर वापसी कर रहा था। पाडली के समीप पहुंचा ही था कि अति संवेदनशील पाडली की पहाड़ी से गिरा पत्थर उसकी स्कूटी के अगले पहिये में जा टकराया। पत्थर लगते ही वाहन असंतुलित होकर रपट गया। हाईवे पर आवाजाही कर रहे यात्रियों ने स्कूटी सवार को निजी वाहन से सीएचसी गरमपानी पहुंचाया। प्राथमिक उपचार के बाद उसे हायर सेंटर रेफर कर दिया गया है। चिकित्सकों के अनुसार पूरन का हाथ फैक्चर हो गया है।

यह भी पढ़ें : बागेश्वर में ठंड से एक की मौत, बर्फबारी और बारिश से कांप उठा पूरा कुमाऊं

Posted By: Skand Shukla

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस