मोदी सरकार - 2.0 के 100 दिन

जासं, हल्द्वानी/भीमताल: भीमताल स्थित होटल से हल्द्वानी के लिए पैदल निकली महाराष्ट्र के नागपुर की महिला चिकित्सक के लापता होने से जिला पुलिस में हड़कंप मच गया। काठगोदाम व भीमताल थाने की संयुक्त टीम का गठन कर जंगलों में कांबिंग के लिए रवाना कर दिया गया। सुबह सात बजे से जंगलों की खाक छान रही पुलिस ने दोपहर दो बजे महिला के लमजाला गांव से सटे जंगल में मिलने पर राहत की सांस ली।

महाराष्ट्र के आदित्य अपार्टमेंट, प्लाट नंबर जी-13, लक्ष्मीनगर, नागपुर निवासी सिविल इंजीनियर गोपाल ओम प्रकाश जोशी अपनी चिकित्सक पत्नी डॉ. रितु गोपाल जोशी व बेटे माधव गोपाल जोशी के साथ कुछ दिन पहले पहाड़ की सैर पर आए थे। शनिवार को वह भीमताल स्थित एक होटल में रुके थे। रविवार सुबह पांच बजे डॉ. रितु गोपाल जोशी वाहन से जाने पर उल्टी आने की बात कहकर हल्द्वानी के लिए पैदल रवाना हो गई। करीब सात बजे पिता-पुत्र काठगोदाम रेलवे स्टेशन पहुंचे तो वहां डॉ. रितु को न पाकर पुलिस को सूचित किया। महिला का मोबाइल नंबर भी पहुंच से बाहर बताने लगा। मामला आला अफसरों तक पहुंचा तो थानाध्यक्ष भीमताल प्रमोद पाठक व थानाध्यक्ष काठगोदाम कमाल हसन के नेतृत्व में दो थानों की संयुक्त टीम गठित की गई।

पुलिस टीम को परिजनों के साथ जंगल में कांबिल के लिए लगाया गया। दोपहर में एक बार चिकित्सक की लोकेशन सूर्या गांव की ओर मिली। जिस पर पुलिस टीम सूर्या गांव से सटे घने जंगलों में कांबिंग करती रही। दोपहर करीब दो बजे महिला चिकित्सक लमजाला गांव से सटे जंगल में भटकती हुई मिल गई। चिकित्सक ने बताया कि वह पैदल हल्द्वानी की ओर आ रही थी। रास्ते में शॉर्ट कट के चक्कर में वह जंगल में चली गई और रास्ता भटक गई। पुलिस टीम महिला को काठगोदाम रेलवे स्टेशन लेकर आई और परिजनों के सुपुर्द कर दिया गया।

==============

मिनरल वाटर खत्म हुआ तो गधेरे का पानी पीकर बुझाई प्यास

कांबिंग के दौरान पुलिस टीम के साथ डॉ. रितु के पति व बेटे भी रहे। गर्मी में जंगलों की खाक छानते-छानते उनका साथ लाया मिनरल वाटर खत्म हो गया। इस पर उन्हें मजबूरन गधेरे के पानी को पीकर प्यास बुझानी पड़ी।

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप