पिथौरागढ़, जागरण संवादाता : लगातार हो रही बारिश के कारण नदियों का जलस्तर बढ़ता जा रहा है। शुक्रवार को पिथौरागढ़ जिले में काली नदी का जल स्तर चेतावनी स्तर 889.00 मीटर से अधिक 889.60 मीटर के करीब पंहुच गया है। ऐसे में सावधानी और सतर्कता के लिए जिलाधिकारी ने संबंधित अधिकारियों को अलर्ट रहते हुए कार्यवाही करने के निर्देश दिए। जिलाधिकारी ने तहसील पिथौरागढ़,धारचूला एवं डीडीहाट के उपजिलाधिकारियों,पुलिस अधीक्षक, तहसीलदारों समेत सभी सुरक्षा एजेन्सियों, बीआरओ,पीडब्ल्यूडी विभागों के अधिकारियों को किसी भी प्रकार की घटना को रोके जाने हेतु आपसी समन्वय स्थापित करते हुए कार्यवाही करने के निर्देश दिए।

डीएम ने कहा कि नदी किनारे रह रहे लोगों को तत्काल सूचित कर उन्हें अलर्ट कर दिया जाए। नदी किनारे के जिन गांवों व भवनों को खतरा उत्पन्न होना प्रतीत होता है तो ऐसे भवन स्वामियों व स्वजनों को सुरक्षित स्थानों पर पंहुचाया जाए। नदी किनारे एवं पुलों पर आवागमन को प्रतिबंधित किया जाए। जिलाधिकारी ने सभी सुरक्षा एजेंसियों को आपसी समन्यव के साथ किसी भी प्रकार की स्थिति में जन सामान्य को सुरक्षित स्थान तक पंहुचाये।जिलाधिकारी द्वारा इसी प्रकार अन्य नदी गोरी, राम गंगा के भी जल स्तर बढ़ने की स्थिति में तत्काल इसी प्रकार कार्यवाही करते हुए लोगों को लाउडस्पीकर के माध्यम से सूचित किया जाय, तथा सुरक्षात्मक कार्यवाही की जाय।

Uttarakhand Flood Disaster: चमोली हादसे से संबंधित सभी सामग्री पढ़ने के लिए क्लिक करें

Edited By: Skand Shukla