जागरण संवाददाता, टनकपुर (चम्पावत) : पुलिस ने ड्रीम इलेवन के नाम पर देश भर के लोगों से लाखों की ठगी करने वाले अंतरर्राज्यीय गिरोह के एकसदस्य को राजस्थान के बूंदी से गिरफ्तार कर लिया है। इसी गैंग के लोगों ने लगभग तीन माह पूर्व टनकपुर में एक पूर्व सैनिक को ठगी का शिकार बनाया था।

सीओ अविनाश वर्मा ने बताया कि गत मार्च माह में छुट्टी में घर आए फौजी रविन्द्र सिंह पुत्र किशन सिंह, निवासी आमबाग टनकपुर ने पुलिस को सूचना दी थी कि वह ड्रीम इलेवन में आईडी बनाकर खेलता है। राहुल नाम के व्यक्ति से ऑनलाइन उसकी दोस्ती हुई। जिसने कई बार इलेवन में उसको जिताया। उसके द्वारा ड्रीम इलेवन के सम्बन्ध में ओटीपी भेजा गया, जिसको ओके करते ही उसके खाते से 67 हजार रुपये निकाल लिए। पुलिस ने इस संबंध में धारा 420 आईपीसी, 66डी आइटी एक्ट के तहत अभियोग पंजीकृत कर बनबसा थाने के प्रभारी निरीक्षक धर्मवीर सोलंकी के नेतृत्व में टीम का गठन किया गया। साइबर, सर्विलांस सैल एवं पुलिस टीम द्वारा घटना के क्रम में फर्जी फोन पे, गूगल पे, पेटीएम व ऑनलाइन बैंकों की डिलेट के माध्यम से साइबर ठग की पहचान राहुल कुमार पुत्र ब्रह्मपाल सिंह, निवासी ग्राम ब्रह्मपुरी उर्फ वमनिया, पोस्ट हसनपुर, जिला अमरोहा, उत्तर प्रदेश तथा मनिपाल पुत्र ब्रहमपाल सिंह, निवासी उपरोक्त के रूप में हुई। दोनों सगे भाई हैं।

सीओ ने बताया कि आरोपितों की धड़ पकड़ के लिए कुन्दन सिंह के नेतृत्व में पुलिस टीम ग्राम ब्रह्मपुरी भेजी गई। घर में दबिश देने पर वे नहीं मिले। उनकी मोबाइल लोकेशन जिला बूंदी, राजस्थान में मिलने पर पुलिस टीम राजस्थान पहुंची और आरोपित मनिपाल को कोठरी, जिला बूंदी, राजस्थान से गिरफ्तार कर लिया गया। जबकि दूसरी आरोपित वहां नहीं मिला। सीओ ने बताया कि पुलिस मनिपाल को टनकपुर ले आई है। उसके खिलाफ वैधानिक कार्रवाई की जा रही है। दूसरे आरोपित को पकडऩे के लिए जाल बिछाया गया है। शीघ्र उसे भी गिरफ्तार कर लिया जाएगा। पुलिस टीम में प्रभारी निरीक्षक सोलंकी केअलावा साइबर सैल प्रभारी हरपाल सिंह, उप निरीक्षक कुन्दन सिंह, कांस्टेबल गुलाम जिलानी, सुरेंद्र, अमित कुमार, बिहारी लाल, सद्दाम हुसैन, भुवन पांडेय शामिल रहे।

Uttarakhand Flood Disaster: चमोली हादसे से संबंधित सभी सामग्री पढ़ने के लिए क्लिक करें

Edited By: Prashant Mishra